किसानों को समृद्ध बनाने के लिए आधुनिक नवाचारों एवं तकनीक से जोड़ना होगा: मुख्यमंत्री राजे

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के किसानों के कल्याण के लिए पूरे जी-जान से जुटी है। मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि किसानों को समृद्ध बनाने के लिए उन्हें परम्परागत खेती से बाहर निकाल कर आधुनिक नवाचारों एवं तकनीक से जोड़ना होगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि बारां जिले में कृषि विपणन, पशुपालन, उद्यानिकी, मत्स्य, भंडारण, कृषि प्रसंस्करण एवं कोल्ड चेन के विशेषज्ञों को साथ लेकर पायलट प्रोजेक्ट के रूप में काम शुरू किया जाए। मुख्यमंत्री ने क्रॉपिंग पैटर्न की स्टडी कर वाणिज्यिक फसलों के उत्पादन को बढ़ावा देने और कृषि से जुड़े अन्य विकल्पों पर काम करने के लिए कहा। सीएम राजे ने मंगलवार को बारां में बारां-अटरू विधानसभा क्षेत्र के लोगों से जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान यह बात कही। उन्होंने कहा कि बारां जैसे जिलों में किसानों के लिए परम्परागत कृषि के अलावा कई ऐसी सम्भावनाएं हैं, जो उनका जीवन बदल सकती हैं।

news of rajasthan

Image: बारां जिले में बारां-अटरू विधानसभा क्षेत्र के लोगों से संवाद के दौरान मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे.

कृषि में इजराइल की तरह विशेषज्ञता हासिल करनी होगी

मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि प्रदेश के किसानों को इजराइल की तरह विशेषज्ञता हासिल कर कृषि में नए आइडिया और टेक्नोलॉजी का उपयोग करना होगा। उन्होंने किसानों से रासायनिक उर्वरकों के अधिक इस्तेमाल से बचते हुए अपनी जमीन के स्वास्थ्य को बचाए रखने का भी आह्वान किया। सीएम राजे ने किसानों को जल का महत्व समझते हुए कहा कि फव्वारा और बूंद-बूंद सिंचाई को अपनाना चाहिए। इससे सिंचाई के लिए उपलब्ध जल का अधिकतम उपयोग संभाव हो पाता है। साथ ही सेम जैसी समस्याओं से भी बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में हाल ही में नीति आयोग की बैठक में भी माइक्रो-इरिगेशन पर फोकस किया गया है।

Read More: बारां-अटरू विधानसभा क्षेत्र में करवाए 1400 करोड़ के विकास कार्य: सीएम राजे

गरीबों और जरूरतमंदों के लिए संजीवनी का काम कर रही है बीएसबीवाई

बारां-अटरू विधानसभा क्षेत्र के लोगों से जनसंवाद के दौरान मुख्यमंत्री राजे ने भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना (बीएसबीवाई) के लाभार्थियों से चर्चा की और साथ ही योजना का फीडबैक भी लिया। राजे से लाभार्थियों ने कहा कि इस योजना के माध्यम से दुर्घटना से लेकर गंभीर बीमारियों का इलाज सुविधापूर्वक और निःशुल्क संभव हुआ है। मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि बीएसबीवाई गरीबों और जरूरतमंदों के लिए संजीवनी का काम कर रही है। इस योजना से जहां प्रदेशभर में 21 लाख 50 हजार लोगों को 1400 करोड़ रूपए के क्लेम से लाभान्वित किया गया है। वहीं बारां-अटरू विधानसभा में लगभग 4 करोड़ रूपए के क्लेम से 30 हजार से अधिक लोगों का निःशुल्क इलाज हुआ है। उन्होंने राजश्री योजना की लाभार्थी महिलाओं से बातचीत की। सीएम राजे ने यहां राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत गंभीर बीमारियों का इलाज कराने वाले लाभार्थियों और उनके परिजनों से फीडबैक भी लिया।

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.