प्रदेश में 28 जून तक दो लाख 84 हजार किसानों को मिला ऋणमाफी प्रमाण-पत्र

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा वित्त वर्ष बजट में प्रदेश के करीब 30 लाख किसानों के हित में कर्जमाफी की घोषणा की गई। प्रति किसान 50 हजार रुपए तक के ऋणमाफ की इस योजना में तेजी से किसानों को ऋणमाफी प्रमाण-पत्र देकर लाभान्वित किया जा रहा है। राज्य के  सहकारिता मंत्री अजय सिंह किलक ने शुक्रवार को बताया कि प्रदेश में 4 जून से 28 जून तक एक हजार 409 ऋणमाफी शिविरों का आयोजन किया जा चुका है। इन शिविरों के माध्यम से सहकारी बैंकों से जुड़े 2 लाख 84 हजार 286 किसानों को 865.17 करोड़ रुपए के ऋणमाफी प्रमाण-पत्र वितरित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि खरीफ सीजन में लगातार फसली ऋण का वितरण किसानों को किया जा रहा है। 28 जून तक 4 हजार 167 करोड़ रुपए का फसली ऋण किसानों को बांटा जा चुका है। मंत्री ने कहा कि किसानों को नया फसली ऋण का वितरण तेजी से किया जा रहा है।

news of rajasthan

File-Image: राजस्थान में 28 जून तक दो लाख 84 हजार किसानों को मिला ऋणमाफी प्रमाण-पत्र.

किसानों को शिविरों में ऋणमाफी के बाद नया ऋण भी किया जा रहा स्वीकृत

सहकारिता मंत्री किलक ने बताया कि 29 एवं 30 जून को 178 शिविरों का आयोजन हो रहा है जिसमें लगभग 50 हजार किसान लाभान्वित होंगे। उन्होंने बताया कि 28 जून तक 2 लाख 22 हजार 265 सीमान्त एवं लघु किसानों को 691.03 करोड़ रुपए तथा 62 हजार 21 अन्य किसानों को 174.15 करोड़ रुपए के फसली ऋण माफी के प्रमाण-पत्र प्रदान किए गए हैं। मंत्री किलक ने बताया कि किसान द्वारा मूल ऋणमाफी के बाद शेष बकाया राशि जमा कराने पर एवं नए ऋण के लिए आवेदन करने पर पूर्व में जितना ऋण स्वीकृत था उतना ऋण किसानों को उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आयोजित किए गए 1 हजार 409 शिविरों में 1524 ग्राम सेवा सहकारी समितियों के किसानों को लाभान्वित किया गया है।

Read More: बीजेपी का मास्टर स्ट्रोक: मदनलाल सैनी को बनाया राजस्थान का प्रदेशाध्यक्ष

राजस्थान में करीब 30 लाख किसानों का होना है कर्जमाफ

सहकारिता मंत्री किलक ने बताया कि शिविरों में 2 लाख 22 हजार 265 सीमान्त एवं लघु किसानों का 658 करोड़ 74 लाख रुपए मूल ऋण, 25 करोड़ 44 लाख रुपए ब्याज राशि एवं 6 करोड़ 85 लाख रुपए की शास्ति राशि सहित कुल 691 करोड़ 3 लाख रुपए का कर्जमाफ किया गया है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने प्रदेश के किसानों के हित में अब तक का सबसे बड़ा और ऐतिहासिक फैसला लेते हुए वित्त वर्ष बजट में कर्जमाफी की घोषणा की थी। जिस पर कांग्रेस ने सवाल उठाते हुए कहा था कि सरकार के खजाने में पैसे नहीं है, ऐसे में सरकार कैसे प्रदेशभर के 30 लाख किसानों का कर्जमाफ कर पाएगी। कांग्रेस का कहना था कि सरकार बीजेपी सरकार किसानों का कर्जमाफ नहीं कर पाएगी, वर्तमान सरकार ने किसानों को बहकावे में लाने के लिए यह घोषणा की है। जबकि राजे सरकार कांग्रेस को झूठा साबित करते हुए अब तक प्रदेश में करीब 3 लाख किसानों का ऋणमाफ कर चुकी है, आगे भी इसी तरह शिविरों का आयोजन कर कर्जमाफ कर प्रमाण-पत्र प्रदान किए जाएंगे।

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.