news of rajasthan

news of rajasthan

देश के सभी वाशिंदों को बैंकों से जोड़ने और बैंक खाता खुलवाने के लिए केन्द्र सरकार की महत्वकांक्षी प्रधानमंत्री जन-धन योजना एक नए अवतार में फिर से आ रही है। पीएमजेडीवाई को हमेशा खुली रहने वाली योजना बनाने का एक हितकारी फैसला हाल ही में लिया गया है। यानि अब प्रधानमंत्री जन-धन योजना एक पूर्ण कालीन योजना के तौर पर शुरु कर दी गई है। साथ ही योजना में कुछ और प्रोत्साहन जोड़ने का भी फैसला किया गया है। बता दें, 2014 में शुरु हुई इस योजना के बाद अब 32.41 करोड़ बैंक खाते खोले जा चुके हैं। सरकारी योजनाओं से मिले अनुदान भी सीधे बैंक खातों में ही जमा कराए जाते हैं।

योजना के तहत अब तक 32.41 करोड़ खाते खोले जा चुके हैं और इनमें अब तक 81,200 करोड़ रुपए की राशि जमा है। जनधन खाते खोलने वालों में 53 फीसदी महिलाएं हैं जबकि इनमें 83 फीसदी खाते आधार से जुड़े हुए हैं।


इस संबंध में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंत्रिमंडल के फैसले की जानकारी देते हुए बताया, ‘प्रधानमंत्री जन-धन योजना की भारी सफलता को देखते हुए केन्द्र सरकार ने इस योजना को हमेशा खुली रखने का फैसला किया है। अब योजना अनिश्चित काल तक खुली रहेगी।’ उन्होंने यह भी बताया कि जनधन खातों को अधिक आकर्षक बनाने के लिए सरकार ने इन खातों में मिलने वाले ओवरड्राफ्ट की सुविधा को 5,000 रुपए से बढ़ाकर 10,000 रुपए कर दिया गया है। साथ ही अब प्रधानमंत्री जन धन खाता खोले जाने की अधिकतम आयु सीमा बढ़ाकर 65 साल कर दी गई है।


बता दें, आम जनता को बैंकों से जोड़ने और उन्हें बीमा और पेंशन जैसी वित्तीय सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री जन-धन योजना को अगस्त, 2014 में शुरु किया गया था। वित्तीय समावेश के राष्ट्रीय मिशन के तौर पर इस योजना को 4 साल के लिए चलाया गया था। पहले इस योजना में 18 से 60 साल तक के उम्र के व्यक्ति ही भाग ले सकते थे।

LEAVE A REPLY