महिपाल लोमरोर: राजस्थान रॉयल्स टीम में शामिल एकमात्र राजस्थानी क्रिकेटर

news of rajasthan

महिपाल लोमरोर-राजस्थान रॉयल्स

महिपाल लोमरोर अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं। यह नाम इंटरनेशनल क्रिकेट में जरूर नया है लेकिन घरेलू क्रिकेट में यह एक जाना माना नाम है। इस समय महिपाल लोमरोर (18) इंडियन प्रिमियम लीग की राजस्थान रॉयल्स टीम का हिस्सा बने हैं और टीम में शामिल एकमात्र राजस्थानी क्रिकेटर हैं। बैन के दो साल बाद आईपीएल में वापसी कर रही राजस्थान रॉयल्स टीम को इस सत्र में महिपाल लोमरोर से काफी उम्मीदें है। राजस्थान रॉयल्स ने इस राजस्थानी किक्रेटर को 20 लाख रूपए में खरीदा है। वह पिछले सत्र में दिल्ली डेयर डेविल्स का हिस्सा थे। भारतीय अंडर-19 क्रिकेट टीम के कोच और राजस्थान रॉयल्स के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड भी महिपाल लोमरोर के प्रशंसक हैं।

7 साल में शुरू किया करियर, मिडियम पेसर से बने स्पिन गेंदबाज

बांए हाथ के खप्पू बल्लेबाज महिपाल लोमरोर न केवल आॅस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट की सी छवि रखते हैं, साथ ही उपयोगी लेफ्ट आर्म स्पिन गेंदबाजी करने में भी सक्षम है। नागौर के डेगाना में जन्में लोमरोर ने 7 साल की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू किया था। शुरूआत में महिपाल तेज अंदाज में बल्लेबाजी, विकेटकीपिंग व मीडियम पेस गेंदबाजी करते थे, लेकिन जयपुर एकेडमी में प्रवेश लेने के बाद कोच ने उनकी प्रतिभा को पहचाना और उन्हें लेफ्ट आर्म स्पिन गेंदबाजी पर ध्यान देने को कहा।

अंडर-19 विश्वकप की उपविजेता टीम के सदस्य

वर्ष 2016 में हुए अंडर-19 विश्वकप की उपविजेता भारतीय टीम के सदस्य रहे महिपाल अपनी तेज तर्रार बल्लेबाजी के लिए काफी पॉपुलर हैं। इस टूर्नामेंट में लोमरोर ने 6 मैचों में 133 रन बनाने के साथ ही 7 विकेट भी छटके। बीसीसीआई के इस घरेलू सत्र में विजय हजारे ट्रॉफी वनडे टूर्नामेंट में 6 मैचों में 246 बनाने के साथ 4 विकेट भी लिए।

गिलक्रिस्ट के जबरदस्त प्रशंसक

IPL11 में राजस्थान रॉयल्स के सदस्य महिपाल लोमरोर आॅस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट के जबरदस्त फैन हैं। न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान व स्पिनर डेनियल विटोरी और भारतीय आॅलराउण्डर रविन्द्र जडेजा को भी लोमरोर अपना आदर्श मानते हैं।

read more: राजस्थान रॉयल्स के कप्तान बने अजिंक्य रहाणे, स्मिथ की छुट्टी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.