NORKotaCambalBridge

किसी ने सच ही कहाँ था ” सबका साथ  सबका विकास ” आज भारत की तस्वीर दुनिया के सामने बदलती जा रही और इस बदलती तस्वीर में राजस्थान अहम भूमिका निभा रहा है। जब से राजस्थान की कमान श्रीमती वसुंधरा राजे ने थामी है राज्य में विकास की रफ़्तार दुगनी हो चुकी है और कुछ ही समय में राज्य की दशा और दिशा दोनों ही बदल चुकी है , साथ ही एक मरू प्रदेश से विकासशील प्रदेश बना दिया है।

प्रदेश के अग्रणी विकास से कोटा भी अछूता नहीं रहा है मुख़्यमंत्री वसुंधरा राजे जी के नेतृत्व में कोटा ने भी दिन दुगनी रात चौगुनी  तरक्की  की  है।

हैंगिंग ब्रिज हालांकि 24 दिसंबर 2009 की भीषण दुर्घटना से कई सालों के इतज़ार के बाद कोटा को मिला,  परन्तु यह ब्रिज कई मामलो में अनूठा है। 277  करोड़ 67  लाख रुपये की लागत से चम्बल नदी पर बने इस ब्रिज को फ्रांस की कंपनी सिस्ट्रा ने स्टे केबल सिस्टम आधारित फ्रांसीसी तकनीक पर बनाया है। शर्तीय तकनीक के अलावा 8 देशो अमेरिका, मालिशिया, कोरिया, फ्रांस, जर्मनी, इटली, स्विट्जरलैंड की तकनीक पर आधारित यह चम्बल कोटा ब्रिज शहर की लाइफ लाइन बनेगा।

हवाई सेवा कोटा की बड़ी पुरानी मांग रही है साथ ही साथ यहाँ कोचिंग सेवा भी बेहद जरुरी है। पूर्ववर्ती सरकार पिछले 5 वर्षो तक एयरपोर्ट की जमीन में कमी होना साथ ही अनेक कारण गिनाकर कोटा में हवाई सेवा शुरू करने से कतराती रही है लेकिन जनहितेषी वसुंधरा सरकार ने इसे अपनी प्राथमिकता बनाये रखा और अगस्त 2017  को श्रीमती वसुंधरा राजे जी ने कोटा से जयपुर की हवाई सेवाओ का शुभारंभ कर दिया था। अब सितम्बर से कोटा से दिल्ली की सेवाएं शुरू हो जाएगी। कोटा एयरपोर्ट में 25 सालो बाद हवाई यात्रा की शुरुवात होने से सिर्फ कोटा को ही नहीं उसके आसपास के क्षेत्रों का  भी विकास को नयी गति मिलेगी।

जीवनदायनी चम्बल नदी पर नयापुरा में पुल से शहर के ट्रैफिक व्यव्स्था को बल मिला है और शहर की आबादी का एक बड़ा वर्ग इससे लाभान्वित होगा,  कोटा को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए हाल ही में श्रीमती वसुंधरा राजे ने अभय कमांड और कंट्रोल सेन्टर की शुरुवात करी है,  आधुनिक तकनीकों से लेस इस सेन्टर पर ऑप्टिकल व सेंसर आधारित डाटा फीड के साथ-साथ कंटोल सिस्टम जैसी आधुनिक सुविधाएं है। इसके साथ वसुंधरा जी ने सिटी गैस वितरण सेन्टर की शुरुवात की है जिसके माध्यम से 3 हजार घरेलू गैस कनेक्शन के साथ कमर्शियल एवं इंडस्ट्रियल गैस कनेक्शन दिये जायेगे। यह ईको फ़िरेन्डली और मॉडर्न राजस्थान की दिशा में सुनेरा कदम है।

Read More :- http://newsofrajasthan.com/gram-kota-2017-programme-event-details-participants/

कोटा- झालावाड़ फोरलेन का निर्माण वसुंधरा जी की बेमिसाल उपलब्धि है तो रणथभौरे और सरिस्का के बाद राज्य का तीसरा टाइगर संरक्षित क्षेत्र मुकुन्दरा नेशनल पार्क ने इस क्षेत्र को विश्व पटल पर ला दिया है।

यह तो राजस्थान की विकास की किताब का एक पना है, वसुंधरा जी ने प्रदेश के विकास के लिए ऐसी अनेकों कार्य किये है जिसकी मिसालें आने वाले समय में दी जाती रहेगी।

LEAVE A REPLY