जयपुर मेट्रो ने दिया यात्रियों को खुश होने का मौका, उठाया यह खास कदम…

जयपुर मेट्रो को गत वर्ष राज्य सरकार द्वारा राजकीय विभाग एवं वाणिज्यिक भवनों की श्रेणी में राजस्थान ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार दिया गया तथा अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस पर श्याम नगर मेट्रो स्टेशन को पुरस्कृत किया जा चुका है।

news of rajasthan

Jaipur Metro

जयपुर मेट्रो ने मानसून के आते ही शहरवासियों को खुश होने का एक और मौका दिया है। कुछ महीनों में जयपुर मेट्रो ने पिक आवर्स यानि शाम 5:00 बजे से रात 9:30 बजे तक बढ़ाया किराया वापिस ले लिया है। कहने का मतलब है कि अब पूरे दिन में जयपुर मेट्रो का किराया एक समान रहेगा। जयपुर मेट्रो निदेशक मण्डल की बैठक में यह निर्णय हुआ है। इस फैसले से निर्धारित समय के बीच करीब 5 से 6 रूपए किराया कम लगेगा। चांदपोल से मानसरोवर के बीच शाम को सफर करने वाले यात्रियों के लिए यह एक राहत भरी खबर है। नया किराया एक जुलाई, 2018 से लागू होगा।

आपको बता दें, तीन साल पहले शुरू हुआ जयपुर मेट्रो का सवार रोजाना सुबह 6:15 बजे से रात्रि 9:45 बजे तक 134 फेरों के साथ बिना रूके, बिना थके एवं बिना किसी अवकाश के निर्बाध रूप से यात्रियों को समर्पित रही है।

गुरूवार को हुई बोर्ड द्वारा मीटिंग के दौरान जयपुर मेट्रो के सभी निदेशकों ने कार्य प्रगति का ब्यौरा दिया। बैठक में फेज-1बी की कार्य प्रगति एवं फेज-2 के डीपीआर रिव्यू की स्थिति का जायजा लिया। बैठक में अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक पवन कुमार गोयल ने उपस्थित सभी बोर्ड सदस्यों का आभार व्यक्त करते हुए उनसे अपेक्षा की एवं मेट्रो की प्रगति के लिए कृत संकल्प होकर कार्य करने का आव्हान किया।

जयपुर मेट्रो ने महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने की दिशा में भी सराहनीय पहल की है। यहां ऑपरेशन एवं मेन्टीनेन्स में 20 प्रतिशत से अधिक महिलाकर्मियों की भागीदारी है तथा महिला शक्ति रेलवे स्टेशन श्यामनगर में सम्पूर्ण मेट्रो प्रबन्धन महिलाकर्मियों द्वारा किया जाता है। इसके अतिरिक्त महिलाओं की सुविधा के लिए गर्भवती व धात्री महिलाओं के लिये आरक्षित सिटें और बेबी फीडिंग रूम का भी प्रावधान किया गया है।

इस मौके पर बोर्ड के सदस्य राजीव स्वरूप, अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक रीको आलोक, प्रमुख सचिव सार्वजनिक कार्य विभाग, राजस्थान सरकार एवं विभाग के चारों पूर्णकालिक निदेशक उपस्थित रहे।

Read more: जयपुर मेट्रो-बिना रूके-बिना थके जनता को समर्पित

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.