holi 2017
holi 2017
holi 2017
holi 2017

होली का त्योहार रंग और गुलाल के बिना अधूरा है। यहीं कारण है कि बाजारों में अभी से रंगों-गुलाल सहित पिचकारियों की बिक्री शुरू हो गई हैं। बच्चों को जहां रंग-बिरंगी विभिन्न तरह की पिचकारियों आकर्षित कर रही हैं। वहीं लोग हर्बल गुलाल खरीदना अधिक पसंद कर रहे हैं। बाजार में अरारोट से बनी गुलाल 80 रुपए से 100 रुपए तक मिल रही है। हर्बल गुलाल का भाव तीन सौ रुपए प्रतिकिलो तक है।

जयपुर में तैयार होता हैं उच्च गुणवत्ता का गुलाल

गौरतलब है कि गुलाल और रंग जयपुर में तो तैयार होता ही है। साथ ही दिल्ली से भी बड़ी मात्रा में तैयार गुलाल बिकने के लिए आता है। अच्छी गुणवत्ता का गुलाल अरारोठ में प्राकृतिक रंग मिलाकर तैयार होता है। अरारोठ से तैयार गुलाल का बाजार भाव 80 रुपए से सौ रुपए प्रतिकिलो तक है, जबकि हर्बल गुलाल जो सूखे फूल, पत्तियों से तैयार होती है उनका बाजार भाव करीब तीन सौ से पांच सौ रुपए किलो तक है।

बाजार में बिक रहा हैं सिंथेटिक रंग और गुलाल

बाजार में सिंथेटिक रंग और गुलाल बड़ी मात्रा में बिक रहा है ?जो स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह है। सस्ता गुलाल चिप्स पाउडर से तैयार होता है। इनका दाम बीस से तीस रुपए तक है। वहीं रंग बीस रुपए से लेकर सौ रुपए प्रति दस ग्राम के भाव से उपलब्ध है।

हर्बल की मांग बढ़ी

त्रिपोलिया बाजार में सालों से रंग गुलाल बेचने वाले ओमप्रकाश अग्रवाल ने बताया कि अब लोग हर्बल गुलाल की मांग ज्यादा कर रहे हैं। इसमें काले रंग के लिए आंवला पानी, पीले रंग के लिए हल्दी, और दूसरे रंग के लिए नीम, कुमकुम, बिल्व और अन्य प्राकृतिक चीजों का उपयोग किया जाता है।

LEAVE A REPLY