शहीद कालीबाई और नानाभाई के नाम पर होंगे डूंगरपुर के जनजातीय छात्रावासों के नाम

शिक्षा की अलख जगाने वाले कालीबाई के शिक्षक सेंगाभाई के जीवन से प्रेरणा लें युवा: मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे

news of rajasthan

डूंगरपुर के मांडवा खापरड़ा गांव में संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे।

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे का आज डूंगरपुर दौरे का दूसरा एवं अंतिम दिन है। मंगलवार को मुख्यमंत्री राजे जिले के मांडवा खापरड़ा गांव में पहुंची और शहीद वीर बाला कालीबाई के पेनोरमा के लोकार्पण के अवसर पर उपस्थित आदिवासी समाज के लोगों को संबोधित किया। यहां उन्होंने जिले में संचालित जनजातीय बालिका छात्रावासों का नामकरण अमर शहीद बालिका कालीबाई के नाम पर तथा जनजातीय बालक छात्रावासों का नामकरण शहीद नानाभाई खांट के नाम पर करने की घोषणा की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने पेनोरमा के साथ शहीद नानाभाई और सेंगाभाई की प्रतिमाएं स्थापित करने करने का भी ऐलान किया है।

हमारी नौजवान पीढ़ी ब्रिटिश हुकूमत के जुल्म का विरोध करते हुए मात्र 13 साल की अल्पायु में शहीद होने वाली बालिका कालीबाई और उन्हीं के साथ शहीद हुए शिक्षक नानाभाई खांट तथा शिक्षा की अलख जगाने वाले कालीबाई के शिक्षक सेंगाभाई के जीवन से प्रेरणा लें।  – मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे

बच्चों को शिक्षा दिलाकर शिक्षा की अलख जगाएं

news of rajasthan

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने आदिवासी क्षेत्र की महिलाओं का आह्वान किया कि वे अपने बच्चों को शिक्षा दिलाएं ताकि वे शिक्षा की अलख जगाने के साथ ही ब्रिटिश हुकूमत के जुल्म का विरोध करते हुए शहीद हुई कालीबाई की तरह ही अपने परिवार, समाज और देश का नाम रोशन कर सकें। उन्होंने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि वीरों और महापुरूषों की गौरवगाथा को चिरस्थायी बनाने के लिए हम प्रदेश में लोक देवताओं, संत-महात्माओं और लोकनायकों के पेनोरमा बना रहे हैं।

कालीबाई-नानाभाई-सेंगाभाई के परिजनों से मिलीं राजे

news of rajasthan

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने शहीद वीर बाला कालीबाई, नानाभाई तथा सेंगाभाई के परिजनों से भी मुलाकात की और उनका सम्मान किया। शहीद कालीबाई को नमन करते हुए विजिटर्स बुक पर अपने संदेश में लिखा कि शिक्षा एवं आजादी की अलख जगाने वाली कालीबाई का इतिहास देश को प्रेरणा देगा। उन्होंने शहीद नानाभाई खांट, सेंगाभाई को भी श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री ने मानगढ़ धाम में गोविंद गुरू राष्ट्रीय जनजातीय संग्रहालय का निर्माण कार्य सितम्बर माह तक पूरा किया जाने का आश्वासन भी दिया है।

यह रहे उपस्थित

इस अवसर पर नगरीय विकास मंत्री श्रीचंद कृपलानी, जलदाय राज्यमंत्री सुशील कटारा, राजस्थान धरोहर संरक्षण प्राधिकरण के अध्यक्ष औंकार सिंह लखावत, सांसद हर्षवर्धन सिंह, विधायक अनिता कटारा, देवेन्द्र कटारा, डूंगरपुर नगर परिषद् सभापति केके गुप्ता तथा अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी भी उपस्थित थे।

Read more: विश्व के टॉप 25 होटल में शामिल हुआ जयपुर का रामबाग पैलेस

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.