बाल-विवाह सामाजिक बुराई, इसके उन्मूलन में सहभागिता निभाएं: मुख्यमंत्री

वसुन्धरा राजे ने प्रदेशवासियों को दी अक्षय तृतीया और परशुराम जयंती की बधाई

news of rajasthan

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने प्रदेशवासियों को अक्षय तृतीया सहित भगवान परशुराम जयंती के पावन पर्व पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री राजे ने अपने संदेश में कहा, ‘अक्षय तृतीया के दिन मांगलिक कार्य करने का विशेष महत्व है, लेकिन अज्ञानता के चलते कुछ लोग इस दिन बाल विवाह जैसी सामाजिक बुराई को बढावा देते हैं। उन्होंने कहा कि बाल विवाह एक ऎसी कुरीति है जिसका बच्चों के मानसिक व शारीरिक विकास पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।’

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों सहित सभी प्रदेशवासियों से बाल विवाह रोकने तथा इसके दुष्प्रभावों के प्रति जनजागरूकता फैलाने के सरकार के प्रयासों में सहभागिता निभाने का आव्हान किया है।

दूसरी ओर शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने भगवान परशुराम जयंती पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी है। उन्होंने मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे द्वारा परशुराम जयंती पर प्रदेश में सार्वजनिक अवकाश की घोषणा के लिए उनका आभार जताया।

इस पावन पर्व पर मंत्री देवदानी ने आमजन से भगवान परशुराम के बताए आदर्शों पर चलने का संकल्प लेने का आव्हान किया है।
देवनानी ने कहा कि शिक्षा विभाग ने राजस्थान ओपन स्कूल बोर्ड मे भगवान परशुराम के जीवन पर पाठ जोड़ा गया है। राज्य के विद्यालयों में विद्यार्थियो के लिए परशुराम के जीवन पर आधारित पुस्तकों का भी विशेष रूप से क्रय किया गया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.