news of rajasthan
Rajasthan: Vajpayee's bones will be immersed now in Pushkar after Gandhiji, Nehru and Indira.

भारत रत्न और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का हाल ही में 16 अगस्त को दिल्ली के एम्स अस्पताल में लंबी बीमारी के कारण निधन हो गया था। 17 अगस्त को पूरे राजकीय सम्मान के साथ अटलजी का अंतिम संस्कार ​किया गया। उनकी मौत की ख़बर के साथ ही देशभर में गमगीन माहौल हो गया था। इसके बाद अब उनकी अस्थियां राजस्थान में विसर्जित की जाएंगी। उल्लेखनीय है कि महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद अब अटलजी की अस्थ्यिां का विसर्जन भी राजस्थान में होगा। पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी की अस्थियां विश्व प्रसिद्ध पुष्कर सरोवर और बांसवाड़ा के बेणेश्वर धाम में भी विसर्जित की जाएंगी।

news of rajasthan
File-Image: गांधीजी, नेहरू और इंदिरा के बाद वाजपेयी की अस्थियां पुष्कर सरोवर में होंगी विसर्जित.

पुष्कर सरोवर और बेणेश्वर धाम में 22 अगस्त को होगा अस्थि विसर्जन

भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी विमल कटियार ने बताया कि अस्थि कलश सोमवार को नई दिल्ली से रवाना होकर दोपहर 12 बजे जयपुर एयरपोर्ट पहुंचेंगे। जहां से अस्थि कलश भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ क्लार्क आमेर से सामने होते हुए सांसद मार्ग, दुर्गापुरा पुलिया के नीचे से होते हुए लक्ष्मी मंदिर तिराहा पहुंचेंगे। वहां से सहकार मार्ग, सहकार सर्किल एवं भाजपा प्रदेश कार्यालय पर अस्थि कलश लाए जाएंगे। मंगलवार को शाम 5 बजे से 6 बजे तक महावीर स्कूल में सर्वदलीय श्रद्धांजलि सभा का आयोजन भी किया जा रहा है। पुष्कर सरोवर और बेणेश्वर धाम में 22 अगस्त को वाजपेयी की अस्थियों का विसर्जन किया जाएगा।

Read More: राजस्थान: गाइडेड बम और एंटी टैंक मिसाइल का हुआ सफल परीक्षण

जानकारी के लिए बता दें, अजमेर जिले के पुष्कर स्थित पुष्कर सरोवर में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की अस्थियों का विसर्जन किया गया था। जिसके कारण झील के एक घाट को अब गांधी घाट के नाम से जाना जाता है। इतिहासकारों के अनुसार महात्मा गांधी की अस्थियों का विसर्जन पुष्कर झील के महिला घाट पर किया गया था।

 

LEAVE A REPLY