डॉ. किरोड़ी मीणा एक बार फिर बीजेपी में शामिल, राजपा का हुआ विलय

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने 2018 के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले डॉ. किरोड़ी मीणा को बीजेपी में शामिल करा पार्टी को नई मजबूती दी है। सीएम राजे चुनावों से पहले पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने के लिए प्रयासरत है। डॉ. मीणा अभी राजपा यानि राष्ट्रीय जनता पार्टी से लालसोट विधानसभा क्षेत्र के विधायक हैं। मीणा के बीजेपी में शामिल होते ही राजपा का भी बीजेपी में विलय हो गया है। डॉ. मीणा के साथ ही राजपा के 3 विधायक भी बीजेपी में शामिल हो गए हैं। इन विधायकों में किरोड़ी की पत्नी गोलमा देवी और गीता वर्मा के नाम भी शामिल हैं। उनके बीजेपी में शामिल होते ही राजस्थान में तीसरे मोर्चे की संभावनाएं भी धूमिल हो गई है।

news of rajasthan

File-Image: डॉ. किरोड़ी मीणा एक बार फिर बीजेपी में शामिल, राजपा का हुआ विलय.

2018 में जीत के लिए बीजेपी की कवायद, डॉ. मीणा के भाई को राज्यसभा टिकट

भारतीय जनता पार्टी ने राजस्थान में 2018 के विधानसभा चुनाव और 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को देखते हुए जीत के लिए हरसंभव प्रयास शुरू कर दिए हैं। पार्टी को हाल ही में पूर्वोत्तर राज्यों में भी भारी समर्थन मिला है। अब आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी एक बार फिर से राजस्थान की सत्ता में काबिज होना चाहती है। इसलिए बीजेपी ने पार्टी छोड़कर गए नेताओं की घर वापसी का काम शुरू कर दिया है। बीजेपी ने डॉ. किरोड़ी मीणा को पार्टी में शामिल करने के साथ ही उनके भाई जगमोहन ​​मीणा को राज्यसभा भेज रही है। पार्टी ने राजस्थान में 23 मार्च को 3 सीटों के लिए होने वाले राज्यसभा चुनाव में एक सीट पर अपना उम्मीदवार बनाया है। यानि मीणा के भाई को बीजेपी राज्यसभा भेजगी।

जानिए.. कौन है डॉ. किरोड़ी लाल मीणा?

डॉ. किरोड़ी लाल मीणा का जन्म 3 नवंबर, 1951 को राजस्थान के दौसा जिले में हुआ था। उन्होंने एमबीबीएस यानि डॉक्टर की पढ़ाई की है। इसके बाद उन्होंने 1981 में सवाई माधोपुर से राजनीति में अपना सफर शुरू किया। डॉ. किरोड़ी मीणा 1985-86 में भाजपा के राज्य सचिव रहे। 1986-88 तक राज्य भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष रहे। डॉ. मीणा भाजपा के टिकट पर कई बार विधायक बन चुके हैं। इसके अलावा वे एक बार निर्दलीय के रूप में सांसद भी चुने गए। 2013 के विधानसभा चुनाव में वे बीजेपी छोड़कर राजपा में शामिल हो गए थे, और दौसा जिले की लालसोट विधानसभा सीट से विधायक बने। उनकी पत्नी गोलमा देवी भी विधायक रह चुकी है। वे अशोक गहलोत सरकार में मंत्री भी बनीं। डॉ. मीणा को राजपा में शामिल होने के बाद राजनीतिक रूप से सफलता नहीं मिली। डॉ. किरोड़ी मीणा के बीजेपी में शामिल होते ही कांग्रेस में हलचल मच गई है। डॉ. मीणा अपने समाज में बड़े सम्मानीय नेता के तौर पर जाने जाते हैं। साथ ही उनकी प्रदेश में मीणा वोटरों पर अच्छी पकड़ है। जिसका फायदा बीजेपी को आने वाले चुनावों में होने वाला है। अब माना जा रहा है कि डॉ. मीणा के करीबी विधायक हनुमान बेनीवाल भी जल्द ही बीजेपी में शामिल हो सकते हैं।

Read More: सुप्रीम कोर्ट बड़ा फैसला, शर्तों के साथ इच्छा मृत्यु की इजाज़त होगी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.