मुबारक़ हो! रोबर्ट जीजा को शगुन मिल गया, क्योंकि राजस्थान के शगुन की तो टांग टूटी पड़ी है ना

आख़िरकार वही हुआ जिसका डर था। जिस बात का राजस्थान की जनता बेसब्री से इंतज़ार कर रही थी, वो इच्छा भी कांग्रेस ने पूरी कर दी।  आख़िर हो भी क्यों ना? अब फ़िक्र किस बात की है? अब तो कांग्रेस की सरकार है। जादूगर की सरकार है! माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और माननीय उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट की सरकार है। मगर इन सबसे ऊपर उस पार्टी की सरकार है, जिस पर 134 सालों से एक ही परिवार के लोगों का एकाधिकार रहा है। राजस्थान में अब गांधी परिवार की सरकार है। इसलिए शगुन तो मिलना ही था।

हा हा हा…! चलिए ज़्यादा सस्पेंस नहीं रखते हुए बता देते हैं कि राजस्थान में कांग्रेस के सरकार बनाने के ठीक 20वें दिन, कांग्रेस के उच्च शिक्षामंत्री माननीय भंवर सिंह भाटी जी ने राष्ट्रिय दामाद और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के आधिकारिक जीजाजी श्रीमान रॉबर्ट वाड्रा को बीकानेर ज़मीन घोटाले में क्लीन चीट दे दी। अब मंत्री जी ने कह दिया तो टाल भी कौन सकता है भई। आख़िर शिक्षामंत्री जी से ज़्यादा ज्ञान थोड़े ही है हमारे पास। लेकिन कुल मिलाकर बात ये है कि जब राजस्थान ही क्या तीन राज्यों में एक साथ कांग्रेस की सरकार बनी है, तो जीजाजी को शगुन मिलना तो तय ही था। और कायदे से बनता भी है। निचे वीडियो की लिंक है जिसमें मंत्री जी ने दामाद जी की मासूमियत की पुष्टि की है।

लेकिन अब सवाल ये उठता है, कि किस कदर जनता को भलाई का लालच दे कांग्रेस ने वोट मांगकर अपनी सरकार बनायी। ग़ौर करने वाली बात ये है, की पिछले 20 दिनों में जनता की भलाई तो नहीं हुयी उल्टा जनता के साथ अत्याचार, दुराचार और अपराध जरूर हो रहे हैं। पिछले 20 दिनों में पूरे राजस्थान में चोरी के 20 से ज़्यादा मामले, लूटपाट, धोखाधड़ी, ठगी और चैन लूटने के 10 मामले, सामने आ चुके हैं। इसके अलावा सरकारी व्यवस्थाएं जैसे बिजली, पानी, चिकित्सा, आदि की सेवाएं भी पूरी तरह से ठप्प हो गयी हैं। इसके आलावा महिलाओं और बालिकाओं के साथ भी दुराचार और दुष्कर्म के 5 मामले सामने आ चुके हैं। जिसमे प्रमुख घटना अजमेर के सिविल लाइन्स क्षेत्र में लड़की के साथ हुयी दुष्कर्म की घटना और भरतपुर में बालिकाओं के साथ दुराचार की हरकत है।

इसके अलावा सुजानगढ़ में चोरी की वारदात, भरतपुर में भाजपा नेता पर जानलेवा हमला, बारां के छिपाबड़ौदा में बजरी माफिया का अत्याचार, सीकर में आबकारी टीम पर बदमाशों द्वारा हमला, झालावाड़ सहित कई शहरों में दुकान और एटीएम में चोरी, प्रदेश में कई जगहों पर चोरी की घटनाओं के साथ धौरपुर और खुद उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट जी के विधानसभा क्षेत्र टोंक में बेतहाशा दौड़ते हुए बजरी माफ़िया के ट्रैक्टर-ट्रॉली द्वारा ली गयी मासूम की जान, प्रमुख घटनाये हैं। कांग्रेस की सरकार बनने के बाद सभी प्रकार के अपराधों में हुयी इस भारी वृद्धि का पूरा श्रेय राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के सभी बड़े पदाधिकारियों को जाता है। जिन्होंने जनता को भर-भर के झूठ बोलकर और लालच देकर ऐसी सरकार तोहफे में दी।

ये राजस्थान का दुर्भाग्य ही है कि गहलोत सरकार जनकल्याण कार्यों पर ध्यान न देकर गांधी परिवार की चापलूसी में लगी हुयी है। एक और तो शिक्षामंत्री ने रॉबर्ट वाड्रा को निर्दोष घोषित कर दिया, वहीं दूसरी और कांग्रेस ने सारे नेता, मंत्री और कार्यकर्ता राहुल गांधी की रैली को सफल बनाने में लगे हुए हैं। जब पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राजस्थान गौरव यात्रा का आयोजन लगाया तो कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि वसुंधरा जी सरकारी ख़जाने का दुरुपयोग कर रही हैं। लेकिन अब कांग्रेस सरकार राहुल गांधी की रैली में सरकारी धन ख़र्च कर के तो जनता का भला कर रही है ना।

अब जब सत्ता हाथ में आ गयी तो कांग्रेस सरकार अपनी मनमानी तो करेगी ही, लेकिन कम से कम अपराध और अत्याचार करने वालों को तो संरक्षण ना दें। वरना कंगाल होने के साथ साथ राजस्थान पूरी तरह से बर्बाद हो जायेगा। लेकिन ये सब कांग्रेस के ऊपर ही निर्भर करता है। जिसने रॉबर्ट वाड्रा को क्लीन चीट देकर जीजाजी को जीत का शगुन दे दिया। कांग्रेस की इस हरकत से बेचारे शगुन की तो टांग ही टूट गयी होगी। वैसे एक शगुन हमारे साथी भी हैं, जिनका दुर्घटना में पैर फ़्रेक्चर हो गया है। बेचारा शगुन, उसकी भी टांग टूटी पड़ी है।

कांग्रेस सरकार में राजस्थान में हो रहे अपराधों की पूरी लिस्ट आप निचे देख सकते हैं।

Read More : किसे वोट दे दिया? राजस्थान की जनता को अपने ही किये पर हंसी आ रही होगी

Author : Mahendra

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.