प्रतिस्पर्धी बनकर ही तय होते हैं सफलता के नए आयाम: शेखावत

नॉलेज को सीमाओं में नहीं बांधा जा सकता। न ही इसकी कोई अंतिम सीमा तय की जा सकती है…

news of rajasthan

राजपाल सिंह शेखावत-उद्योग व राजकीय उपक्रम मंत्री

नॉलेज को सीमाओं में नहीं बांधा जा सकता और न ही इसकी कोई अंतिम सीमा तय की जा सकती है। नॉलेज के क्षेत्र में निरंतर प्रतिस्पर्धी बनकर ही सफलता के नए आयाम प्राप्त किए जा सकते हैं। यह कहना है राजस्थान के उद्योग व राजकीय उपक्रम मंत्री राजपाल सिंह शेखावत का। मंत्री शेखावत शनिवार को होटल क्लार्क आमेर में स्टेट गाईड लाइन इन्फो सर्विसेज द्वारा आयोजित एजुकेशन फेयर के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे।

कार्यक्रम में शेखावत ने राज्यसभा सांसद मदन लाल सैनी, मेजर एके सिंह एवं पूर्व अतिरिक्त मुख्य सचिव विपिन शर्मा के साथ दीप प्रज्ज्वलित कर फेयर का शुभारंभ किया।

फेयर के बारे में अतिरिक्त जानकारी देते हुए सूर्यवीर सिंह ने बताया कि फेयर में एनपीसीएल, मोदी यूनिवर्सिटी, एसकेआईटी, आर्या कॉलेज आदि करीब एक दर्जन संस्थाएं हिस्सा ले रही है। दो दिवसीय फेयर में क्वीज, डिबेट, क्ले आर्ट, फोटोग्राफी आदि गतिविधियों के साथ ही स्टूडेंट्स को केरियर के संबंध में विशेषज्ञों द्वारा मार्गदर्शन प्रदान किया जाएगा।

इससे पूर्व अतिरिक्त मुख्य सचिव विपिन चन्द्र शर्मा, मेजर एके सिंह व वैभव भारद्वाज ने भी फेयर को उपादेय बताया। इस मौके पर राज्यसभा सांसद मदन लाल सैनी ने कहा कि एजुकेशन फेयर के माध्यम से युवाओं को एक ही स्थान पर बहुआयामी जानकारी प्राप्त हो सकेगी।

read more: न बटलर न स्टोक्स, कैसा होगा राजस्थान रॉयल्स व आरसीबी में आज नॉकआउट!

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.