news of rajasthan
CM Raje can fill nomination on November 16 from Jhalarapatan seat.

राजस्थान विधानसभा के चुनाव जैसे जैसे नजदीक आ रहे है प्रदेश में चुनावी सरगर्मियां भी तेज हो गई हैं। विधानसभा चुनाव में अब करीब एक माह का समय शेष है और अबतक दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दलों ने अपने प्रत्याशियों की लिस्ट जारी नहीं की है। हालांकि बीजेपी व कांग्रेस दोनों ही दलों में प्रत्याशी चयन का काम अंतिम चरण में चल रहा है। माना जा रहा है कि दोनों ही दल दीपावली के बाद अपने प्रत्याशियों की सूची जारी करेंगे। बीजेपी प्रत्याशी चयन में कई चरण का मंथन कर चुकी है। इसकी वजह यह है कि बीजेपी सिर्फ ऐसे उम्मीदवार मैदान में उतारना चाहती है जिनकी जीत के प्रति पार्टी विश्वस्त हो। प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पहले ही आगामी विधानसभा चुनाव अपनी परंपरागत सीट झालरापाटन से लड़ने की घोषणा कर चुकी हैं। सीएम राजे के 16 नवंबर को झालरापाटन विधानसभा क्षेत्र से नामांकन दाखिल करने की प्रबल संभावना जताई जा रही है।

news of rajasthan
Image: मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे.

हाल ही में झालावाड़ जिले के तीन दिवसीय दौरे पर रही मुख्यमंत्री राजे

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे हाल ही में अपने गृह जिले झालावाड़ में तीन दिवसीय चुनावी दौरे पर रही। इस दौरान सीएम राजे पार्टी के बूथ महासंपर्क अभियान के तहत संगठन कार्यकर्ताओं और लोगों से मिलीं। रविवार को मुख्यमंत्री राजे ने झालावाड़ में प्रबुद्ध नागरिकों व व्यापारिक संगठनों के पदाधिकारियों से मुलाकात की। झालावाड़ के पृथ्वी विलास गेस्ट हाउस में हुई इस बैठक में शहर के वरिष्ठ नागरिकों, प्रबुद्धजनों व सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ झालावाड़-बारां सांसद दुष्यंत सिंह, आरपीजी चेयरमैन श्रीकृष्ण पाटीदार और आरपीएससी के पूर्व चेयरमैन श्यामसुंदर शर्मा भी मौजूद रहे। इससे पहले सीएम राजे ने आदर्श विद्या मंदिर स्कूल में संघ पदाधिकारियों से मुलाकात की। संघ पदाधिकारियों के साथ हुई बैठक में बारां विभाग प्रचारक विकास, जिला संघचालक डॉ. डीके जैन और राधेश्याम पारेता शामिल थे।

Read More: सहकार उपहार दीपोत्सव मेला में खरीदारों की उमड़ी भीड़, डिजिटल पेमेंट की मिल रही है सुविधा

राजे ने कहा, जब तक जिउंगी जनता की सेवा करती रहूंगी

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे रविवार शाम को जयपुर में आयोजित बीजेपी के दीपावली मिलन कार्यक्रम में मीडिया से मुखातिब हुई। राजे ने इस दौरान कांग्रेसी नेताओं के बयान पर पलटवार करते हुए कि कहा, राजस्थान में मेरी डोली आई थी और अर्थी ही वापस जाएगी। सीएम राजे ने इस बार तल्ख तेवर दिखाते हुए कहा कि वे जब तक जिएंगी राजस्थान की जनता की सेवा करती रहेंगी। राजे ने कहा कि उनका ऑरिजन पूछा जा रहा था, लेकिन यह प्रश्न पूछने वाले पहले यह तो बताएं कि उनका ससुराल और पीहर कहां हैं?

 

LEAVE A REPLY