निर्वाचन अधिकारी ने किया दुष्यंत सिंह को परेशान
निर्वाचन अधिकारी ने किया दुष्यंत सिंह को परेशान

लोकसभा चुनावों का माहौल अपने पूरे शबाब पर। राजस्थान में भी लोकसभा सीटों के सभी उम्मीदवार एक एक करके अपने नामांकन दाहिल करने में लगे हुए हैं। कईं नेता चुनावी अभियान के तहत जनसम्पर्क एवं चुनाव प्रचार में लगे हुए हैं। सब लोग अपने-अपने संसदीय क्षेत्रों में जाकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं। तथा जनता से जीत दिलाने की गुहार कर रहे हैं। वैसे तो इस आर भारतीय निर्वाचन आयोग ने आदर्श आचार संहिता लगाने के साथ ही कह दिया था। इस बार लोकसभा चुनावों में आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्यवाई की जाएगी। लेकिन क्या होगा जब निर्वाचन आयोग द्वारा नियुक्त किये गए अधिकारी स्वयं ही आदर्श आचार संहिता की अवहेलना करेंगे। ऐसे में लोकतंत्र कहाँ तक सुरक्षित रह पायेगा। जिसका ताजा उदाहरण 4 अप्रेल को झालावाड़-बारां संसदीय क्षेत्र में देखने को मिला।

निर्वाचित अधिकारी ने ही किया आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन

चुनावी जनसंपर्क के दौरान दुष्यंत सिंह
चुनावी जनसंपर्क के दौरान दुष्यंत सिंह

झालावाड़-बारां संसदीय क्षेत्र में वर्तमान सांसद व भाजपा प्रत्यासी दुष्यंत सिंह। पिछले कई दिनों से चुनावी प्रचार एवं जनता से संपर्क साधने के लिए। अपने गृह क्षेत्र में दौरे कर रहे हैं। जहाँ नवनियुक्त फ्लाइंग स्क्वाड निर्वाचित अधिकरी  श्री प्रेम सिंह मीणा। बुधवार 4 अप्रेल को जनसम्पर्क के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं प्रत्यासी दुष्यंत सिंह का विरोध करने लगे। उनके काफ़िले को चुनाव प्रचार और वोट अपील करने से टोका गया। साथ ही उनकी चुनाव सामग्री को नष्ट करने के प्रयास में। भाजपा के पार्टी झंडे एवं पोस्टर उखड दिए गए।  लेकिन इतना सब हो जाने के बाद भी। शायद सत्तासीन कांग्रेस और राजस्थान के वर्तमान दोहरे मुख्यमंत्रियों  गहलोत-पायलट के कानों में जूँ तक नहीं रेंगी। ये वही गहलोत और पायलट हैं। जिन्होंने राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनाते ही। सड़कों पर चौकीदार चोर है। तथा चौकीदार ही भागिदार है। लिखे हुए बड़े-बड़े होर्डिंग्स-बैनर राजधानी जयपुर में लगवा दिए थे।

व्याकुल होकर दुष्यंत सिंह ने जिला निर्वाचन अधिकारी को चिट्ठी लिखी

अपने साथ एक नियुक्त निर्वाचित अधिकारी के दुर्व्यवहार से व्याकुल होकर। भाजपा प्रत्याशी श्री दुष्यंत सिंह ने अपरबश जिले के निर्वाचन अधिकारी को चिट्टी लिखकर। अपने साथ हुए इन अमानवीय दुर्व्यवहार से अवगत कराया। तथा उन्हें प्रताड़ित करने वालों के ख़िलाफ़ उचित कार्यवाई करने की मांग की। उन्होंने लिखा…

प्रति श्री

जिला निर्वाचन अधिकारी,

जिला बारां

विषय: राजकीय कर्मचारी द्वारा राजनैतिक विद्वेष से भाजपा कार्यकर्ताओं को धमकाने के संबंध में।

प्रिय महोदय,

जन संपर्क के दौरान दुष्यंत सिंह
जन संपर्क के दौरान दुष्यंत सिंह

यह सूचित करते हुए खेद है। छीपाबडौद तहसील के सारथल थाना क्षेत्र में एक राजकीय कर्मचारी के इशारे पर। पुलिसकर्मी आम भाजपा कार्यकर्ताओं को परेशान कर रहे हैं। आज दिनांक 04 अप्रैल 2019 को कलमोदिया गांव के दौरे पर मुझे कार्यकर्ताओं ने ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी श्री प्रेम सिंह मीणा के बारे में शिकायत की। ग्रामीण कार्यकर्ताओं ने मुझे बताया। श्री मीणा ने सारथल पुलिस का सहयोग लेकर आज सुबह गांव एवं आसपास के क्षेत्र में लगे हुए भाजपा के झंडे उतरवा दिए। इतना ही नहीं भोले-भाले ग्रामीणों को धमकाया गया। यहां आगे से भाजपा के झंडे नहीं दिखाई देने चाहिए।

श्री प्रेम सिंह मीणा को निर्वाचन विभाग ने फ्लाइंग स्क्वाड टीम में नियुक्त किया है। जिसकी शक्तियों का वह दुरुपयोग कर रहे हैं। मेरी जानकारी के अनुसार श्री मीणा कांग्रेसी मानसिकता से ग्रसित अधिकारी हैं। ऐसे व्यक्ति को निर्वाचन विभाग में जिम्मेदारी देने से निष्पक्ष चुनाव प्रक्रिया प्रभावित होने की आशंका है। अतः आपसे अनुरोध है। श्री प्रेम सिंह मीणा को तत्काल प्रभाव से हटाने की कार्यवाही करें।

धन्यवाद,

भवदीय,

(दुष्यंत सिंह)

भाजपा प्रत्याशी,

बारां-झालावाड़ लोकसभा

LEAVE A REPLY