पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे आज पुलवामा में शहीद हुए कोटा जिले के जवान हेमराज मीणा के पैतृक गांव पहुंचीं। यहां उन्होंने शहीद की वीरांगना, बच्चों व उनके परिजनों को सांत्वना दी तथा ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। शोक संतप्त परिजनों ने बताया कि शहीद हेमराज का सपना था कि वो अंतिम सांस तक मातृभूमि की सेवा करता रहे।

इस दौरान शहीद हेमराज के 6 वर्षीय पुत्र ने पाकिस्तान मुर्दाबाद और भारत माता की जयकारे लगाए। वीरांगना मधुबाला ने पति के अमर रहने और ‘जब तक सूरज-चांद रहेगा, हेमराज तेरा नाम रहेगा के नारे लगाए।

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे शहीद हेमराज के अंत्येष्टि स्थल पर पहुंचकर वहां पुष्प चक्र अर्पित किया। यहां उन्होंने मौजूद ग्रामीणों की मांग पर अंत्येष्टि स्थल पर चार दीवारी और स्मारक बनाने की बात कही। राजे के साथ कोटा-बूंदी सांसद ओम बिरला, पूर्व सांसद इज्यराज सिंह, पूर्व मंत्री यूनुस खान, विधायक संदीप शर्मा, पूर्व विधायक हीरालाल नागर व ममता शर्मा मौजूद रहीं।.राजे ने मीडिया से बातचीत में कहा कि वीर सपूत हेमराज मीणा ने अपने शौर्य, पराक्रम व साहस से सरहद पर देश का गौरव बढ़ाया है।

हेमराज के नहीं होने पर आज हमारी आंखें नम तो हैं लेकिन उनकी शहादत ने मां भारती के स्वाभिमान को बचाकर राजस्थान को गौरवान्वित किया है। राजस्थान के 5 जवान पुलवामा में शहीद हुए हैं। यह प्रदेश के लिए दुख की घड़ी है। यह जवान का परिवार हमारा ही है। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे हेलीकॉप्टर से जयपुर से सांगोद पहुंचीं। यहां से सड़क मार्ग से शहीद हेमराज मीणा के पैतृक गांव विनोद कलां पहुंचीं। यहां उन्होंने शहीद के अंत्येष्टि स्थल पर स्मारक और चारदीवारी बनाने की घोषणा की।

1 COMMENT

Comments are closed.