आखिर सच एक दिन सामने आ ही जाता है यही हुआ जब कांग्रेस की प्रखंड वक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने अपनी ही पार्टी के खिलाफ इतना बड़ा बयान दे दिया वो भी तब जब कांग्रेस पार्टी विचारधारा का पाठ देश को पढ़ा रही है, हुआ ऐसा था की प्रियंका ने पिछले दिनों उत्‍तर प्रदेश के मथुरा में राफेल डील को लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। इस दौरान कांग्रेस के ही कार्यकर्ताओं ने प्रियंका से अभद्र व अमर्यादित व्यवहार किया

हालांकि, कांग्रेस के दोषी कार्यकर्ताओं के द्वारा घटना पर खेद प्रगट करने पर कार्यवाही को निरस्त कर दिया गया है। इस पूरे मसले पर अफसोस प्रकट करते हुए प्रियंका चतुर्वेदी ने अपनी दुख जाहिर किया। प्रियंका चतुर्वेदी ने लिखा, ‘बड़े ही दुख की बात है कि पार्टी मारपीट करने वाले बदमाशों को अधिक वरीयता देती है, बजाय जो खून पसीने के साथ काम करते हैं। पार्टी के लिए मैंने अभद्र भाषा से लेकर हाथापाई तक झेली, लेकिन फिर भी जिन लोगों ने मुझे पार्टी के अंदर धमकी दी, उनके साथ कोई भी ठोस कार्रवाई नहीं हुई। वह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण हैं।’

बता दें कि प्रियंका चतुर्वेदी भाजपा की आलोचना करने में हमेशा आगे रही हैं। हाल ही में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की डिग्री को लेकर प्रियंका चतुर्वेदी ने तंज कसा था। उन्‍होंने कहा था कि एक नया सीरियल आएगा, क्योंकि मंत्री भी कभी ग्रेजुअट थी। इसकी ओपनिंग लाइन होगी, ‘क्वॉलिफिकेशन के भी रूप बदलते हैं, नए-नए सांचे में ढलते हैं। एक डिग्री आती है, एक डिग्री जाती है, बनते ऐफिडेविट नए हैं। उन्‍होंने कहा कि स्‍मृति ईरानी ने अपनी शैक्षणिक योग्‍यता को लेकर जो चीज कायम की है कि किस तरीके से ग्रेजुएट से 12th क्‍लास के हो जाते हैं। वो मोदी सरकार से ही और मोदी सरकार में ही मुमकिन है।

 

LEAVE A REPLY