‘शराब स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।’ जी हां! हम सबने ये बात सुनी भी है और अच्छी तरह जानते भी हैं। लेकिन, जब यही शराब कमाई का साधन बन जाए तो बात ही क्या! और कमाई भी ऐसी कि फिर पीछे मुड़कर देखने की जरूरत ही नहीं। इस साल भी शराब की लॉटरी के आवेदन की ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू होने में है। ऐसे में लोग एक बार फिर उत्सुक है कि इस बार उनका लॉटरी में नंबर लग जाए। और लॉटरी खुलने के बाद क्या होगा ये आप और हम सब जानते ही हैं। तो आइए समझ लेते हैं कैसे हजारों लगाकर आप करोड़ों के मालिक बन सकते हैं। वो भी आने वाले कुछ माह में…

कैसे और कितनी राशि से होगा आवेदन

नई आबकारी नीति के तहत शराब लाईसेंसों की फीस में इस साल वृद्धि की गई है। देशी मदिरा समूह के लाइसेंस फीस में 15 फीसदी की वृद्धि की गई है, तो वहीं लाइसेंस फीस का 8% धरोहर राशि के तौर पर जमा होगा। 10 लाख रुपए तक के देशी मदिरा समूह के लिए आवेदन शुल्क 23 हजार रुपये रखा गया है। वहीं 10 लाख से अधिक के समूह के लिए आवेदन शुल्क 28 हजार होगा। अंग्रेजी शराब की दुकानों के लिए 28 हजार रुपए आवेदन शुल्क निर्धारित किया गया है। जयपुर से जोधपुर के लिए बेसिक लाइसेंस फीस 22 लाख और न्यूनतम स्पेशल बैंड फीस 8 लाख होगी, कुल लाइसेंस फीस 30 लाख होगी।
राजस्थान में वित्त वर्ष 2019-20 के लिए वित्त विभाग ने नई आबकारी नीति जारी कर दी है। राज्य सरकार की इस आबकारी नीति के अंतर्गत प्रदेश में शराब की दुकानों के लिए फिर से लॉटरी होगी। देसी और अंग्रेजी शराब के लाइसेंसों आवंटन के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। जिसके लिए जल्द ही आवेदन तिथि की घोषणा की जाएगी। 31मार्च से पहले इसके लिए पूर्ण तैयारी कर प्रक्रिया पूरी की जाएगी। राजधानी जयपुर में शराब की दुकान के लिए आवेदन की फीस 28 हजार रुपए रखी गई है।
राज्य की नई आबकारी नीति एक वर्ष के लिए जारी कर दी गई है। इसके तहत देशी मदिरा अनुज्ञा पत्र समूह वार विशेषाधिकार राशि पर एकाकी विशेषाधिकार प्रणाली के अंतर्गत आवंटित किए जाएंगे। वहीं भांग समूहों की निविदाएं आमंत्रित कर बंदोबस्त किया जाएगा। शराब लाइसेंस आवंटन के लिए आबकारी विभाग ऑनलाइन आवेदन लेगा और लॉटरी के द्वारा आवंटन होगा।

इस प्रकार होगी होटल-बार लाइसेंस फीस

फाइव स्टार होटल 17 लाख रुपए सालाना
4 स्टार होटल में 12 लाख रुपए,
3 स्टार होटल 9.30 लाख रुपए,
लग्जरी ट्रेन 9.30 लाख रुपए,
50 कमरों तक की होटल के लिए 9 लाख,
51 से 100 कमरों की होटल के लिए 11 लाख रुपए,
100 कमरों से अधिक की होटल के लिए 16 लाख रुपए फीस होगी।
अंग्रेजी शराब के लिए लाइसेंस फीस का निर्धारण जिले अनुसार अलग अलग होगा। जोधपुर में जहां लाइसेंस फीस 30 लाख रुपये होगी तो वहीं संभागीय मुख्यालय माउंट आबू से जैसलमेर 25 लाख। जिला मुख्यालय अलवर, सीकर, भीलवाड़ा, पाली, गंगानगर में लाइसेंस कीमत साढ़े 18 लाख रुपए तय की गई है। अन्य जिला मुख्यालय एवं नगर पालिका, नगर परिषद कोटपूतली, बहरोड़, ब्यावर, किशनगढ़, कुचामन सिटी, मकराना, देवली, रामगंजमंडी, झालरापाटन, भवानीमंडी, आबू रोड, बालोतरा, भीनमाल, गंगापुरसिटी, हिंडौनसिटी, निंबाहेड़ा, फलोदी, सागवाड़ा, सूरतगढ़ और नीमकाथाना में ये राशि 17 लाख रुपए रखी गई है। वहीं, अन्य चतुर्थ श्रेणी की अन्य नगर पालिका को छोड़कर लाइसेंस फीस 15 लाख होगी।

59 COMMENTS

  1. I don’t even know how I ended up here, but I thought this post was great.
    I do not knolw who you are but certainly you’re going to a
    famous blogger if you aren’t already 😉 Cheers!

  2. I think that is among the such a lot vital info for me.
    And i’m gld studying your article. But want to commentary on few basic issues, The site taste is perfect, the
    articles is in reality great : D. Excellkent task, cheers

  3. First of all I want to say superb blog! I had a quick question that I’d
    like to ask if you don’t mind. I was interested to know
    how you center yourself and clear your head before writing.
    I’ve had a tough time clearing my thoughts in getting my ideas
    out. I truly do enjoy writing however it just seems like the
    first 10 to 15 minutes are generally lost just trying to figure out how to begin. Any suggestions or
    hints? Appreciate it!

  4. Wow Este blog parece só como meu velho! É um completamente
    diferentes assunto mas tem praticamente o mesmo layout e design.
    Grande das cores!

Comments are closed.