राजस्थान के कद्दावर ब्राह्मण व भारतीय जनता पार्टी के पूर्व वरिष्ठ नेता घनश्याम तिवाड़ी ने मंगलवार को कांग्रेस में शामिल होने का ऐलान कर लोकसभा चुनाव में भाजपा का समीकरण बिगाड़ दिया है। राजनीतिक गलियारों में जारी चर्चाओं पर मुहर लगाते हुए तिवाड़ी ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करने की घोषणा की है। मंगलवार को रामलीला मैदान, जयपुर में आयोजित होने वाली राहुल गांधी की सभा में कांग्रेस का दामन आधिकारिक तौर पर थामेंगे। भारत वाहिनी पार्टी के प्रमुख तिवाड़ी ने कहा कि इस समय लोकतंत्र को बचाने की जरूरत हैं, इसलिए वो कांग्रेस से जुड़ रहे हैं।

घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि उन्होंने जिन सिद्धांतों के साथ भाजपा में और भारत वाहिनी पार्टी में काम किया, उसी पर आगे भी कायम रहेंगे। इसके बाद भारत वाहिनी के कांग्रेस में विलय की प्रक्रिया होगी। गौरतलब है कि घनश्याम तिवाड़ी भाजपा के वरिष्ठ व दिग्गज नेताओं में शुमार है। हाल ही में विधानसभा चुनाव से पहले तिवाड़ी ने भाजपा का दामन छोड़कर नया राजनीतिक दल भारत वाहिनी पार्टी बनाई थी। हालांकि पार्टी विधानसभा में कोई सीट हासिल नहीं कर पाई। स्वयं घनश्याम तिवाड़ी सांगानेर सीट से बुरी तरह हारे थे। विधानसभा चुनाव के बाद से ही तिवाड़ी के कांग्रेस में शामिल होने की अटकले थी। इस संबंध में तिवाड़ी सीएम गहलोत से भी मिल चुके थे।

राजस्थान विधानसभा में 6 बार विधायक का चुनाव जीत चुके घनश्याम तिवाड़ी को लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की ओर से टिकट देने की चर्चा भी जोरों पर है, हालांकि तिवाड़ी इससे इंकार कर चुके हैं। अब देखना होगा कि घनश्याम तिवाड़ी के कांग्रेस में जाने के बाद उनका राजनीतिक भविष्य किस करवट बैठेगा।

LEAVE A REPLY