उज्ज्वला गैस कनेक्शन की चाय पीने झालावाड़ पहुंची राजे, कहा-डंके की चोट पर जीतेंगे चुनाव

news of rajasthan

लाभा​र्थी के किचन में चाय का लुफ्त उठाते हुए मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे।

आगामी राजस्थान विधानसभा चुनावों को देखते एवं अग्रिम तैयारों को ध्यान में रखते हुए शुक्रवार से प्रदेश में भाजपा का महासम्पर्क बूथ अभियान का आगाज हुआ। अभियान की शुरुआत मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने झालरापाटन विधानसभा क्षेत्र के रायपुर कस्बे से की। मुख्यमंत्री ने यहां केन्द्र एवं राज्य सरकार की योजनाओं के लाभार्थियों से जनसम्पर्क किया। राजे यहां सरकारी योजनाओं की एक लाभार्थी संतोष राठौड़ के घर पहुंची। संतोष ने उन्हें बताया कि उसे भी प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में गैस कनेक्शन मिला है, जिसके लिए वह प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री की शुक्रगुजार है।


इस मौके पर संतोष ने मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने उज्ज्वला गैस कनेक्शन पर बनी चाय पीने के लिए आग्रह किया जिन्हें उन्होंने सहर्ष स्वीकार कर लिया। मुख्यमंत्री राजे ने सांसद दुष्यंत सिंह संतोष के किचन में बैठकर ही चाय की चुस्की ली और अन्य घरवालों से भी बात की।

Read more: ओछी हरकतों पर उतरी कांग्रेस, अब सोशल मीडिया प्रमुख ने दिया विवादित बयान

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे को संतोष ने बताया कि उसे भामाशाह डिजिटल योजना में स्मार्ट फोन भी मिला है। वहां उपस्थित एक छात्रा ने बताया कि उसे लैपटॉप मिला है। वहीं एक अन्य छात्रा ने गार्गी पुरस्कार और एक ने स्कूटी योजना में स्कूटी मिलने की बात कही।


इसके बाद मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने झालरापाटन विधानसभा क्षेत्र के पिड़ावा कस्बे में आयोजित भाजपा बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया। उन्होंने विश्वास जताया कि हम डंके की चोट पर आगामी विधानसभा चुनाव जीतेंगे और इसके बाद लोकसभा चुनाव जीतकर मोदीजी को फिर से प्रधानमंत्री बनाएंगे। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आव्हान किया कि घर-घर जाकर कमल के निशान के स्टीकर लगाए।

बता दें, राजस्थान में विधानसभा चुनावों की तैयारियां जोरो-शोरों से शुरु हो गई है। प्रदेश में 200 सीटों पर चुनाव होंगे। मतदान 7 दिसम्बर को और परिणाम 11 दिसम्बर को आने हैं। प्रदेश में आचार संहिता पहले ही लागू हो गयी है। प्रत्याशियों की लिस्ट जल्दी ही जारी होने की उम्मीद है।

Read more: भाजपा सरकार की नीतियों ने फिर बढ़ाया मरुधरा का मान

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.