राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने हाड़ोती क्षेत्र के निवासियों को बाघ आरटी-91 को मुकुन्दरा हिल्स नेशनल पार्क में सफलतापूर्वक स्थानांतरण किए जाने पर बधाई दी है। इसके लिए सीएम राजे ने रणथंभौर टाइगर रिजर्व, मुकुंदरा हिल्स नेशनल पार्क और रणथंभौर के ग्राम वन्यजीव पहरेदारों के संयुक्त प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि आज का दिन वन्यजीव संरक्षण के इतिहास में सुनहरे तौर पर जाना जाएगा। राजे ने कहा कि पारिस्थतिकी तंत्र की सुरक्षा और संरक्षण की जिम्मेदारी हाड़ोती क्षेत्र के लोगों को निभानी होगी।

अवैध शिकारियों से था बाघ को खतरा

गौरतलब है कि बाघ आरटी-91 बीते कुछ समय से रणथम्भौर टाइगर रिजर्व से निकलकर बूंदी जिले के बाहरी वन क्षेत्रों और आबादी वाले इलाकों में पहुंच गया था जिससे वहां के लोगों में भय का माहौल व्याप्त था। बाघ के खुले आम भरी आबादी वाले क्षेत्रों में पहुंचने से आमजन को तो खतरा था ही साथ में बाघ की सुरक्षा को भी खतरा पैदा हो गया था। क्योंकि अवैध शिकारी बाघ का शिकार करने की फिराक में घूम रहे थे। हालांकि इनको वन विभाग की टीम ने समय रहते गिरफ्तार कर लिया था। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए और विस्तृत विचार-विमर्श के बाद यह तय किया गया था कि बाघ आरटी-91 को अन्यत्र जगह पर सुरक्षा की दृष्टि से भेजा जाना चाहिए।

इस पर मुख्य वन्यजीव वार्डन, राजस्थान ने 30 मार्च के अपने आदेश के तहत बाघ आरटी-91 को कोटा के मुकुन्दरा के दरा रेन्ज में 28 हेक्टेयर में बने सॉफ्ट इन्क्लोजर में स्थानान्तरण किए जाने के सख्त दिशानिर्देश और प्रोटोकॉल दिए थे।

मुकुन्दरा हिल्स नेशनल पार्क होगा अधिक विकसित

बाघ के यहां पर स्थानांतरण किए जाने से संरक्षित क्षेत्र की जैविक विविधता और बाघ के चारों ओर घूमने वाले संरक्षण प्रयासों में बड़े स्तर पर वृद्धि होगी। रणथंभौर की बात की जाए तो वहां पर 50 प्रतिशत नर बाघ है। इतनी अधिक संख्या में बाघ के होने से एक-दूसरे के साथ संघर्ष की स्थिति अधिक बढ़ जाती है। जबकि कुछ बाघ तो रिजर्व से बाहर निकलने को भी मजबूर हो जाते हैं। इसलिए वन्य जीवों के संरक्षण हेतु क्षेत्र के विस्तार किए जाने की आवश्यकता है।

राजस्थान में प्रजातियों के दीर्घकालीन संरक्षण के तहत मुकुन्दरा में बाघ आरटी-91 को भेजना काफी सही कदम माना जा रहा है। मुकुन्दरा में बाघ के सफल रिलोकेशन से बाघों के लिये नये क्षेत्र विकसित करने की संभावना बढ़ गई है। मुकुंदरा हिल्स नेशनल पार्क में बाघ आरटी-91 की सुरक्षा एवं निरीक्षण के उचित प्रबंध किए गए हैं। फिलहाल कुछ समय के लिए इस क्षेत्र में पर्यटन की अनुमति प्रदान नहीं की जाएगी।

LEAVE A REPLY