स्कौच अवॉर्ड: कौशल प्रशिक्षण में राजस्थान को लगातार तीसरे वर्ष सर्वश्रेष्ठ राज्य का पुरस्कार

राजस्थान ने कौशल प्रशिक्षण के क्षेत्र में एक बार फिर अपना परचम लहराया है। राजस्थान कौशल प्रशिक्षण के क्षेत्र में लगातार तीन वर्षों से सर्वश्रेष्ठ राज्य का पुरस्कार जीत चुका है। ऐसोचैम एवं एमएसडीई (मिनिस्ट्री ऑफ स्किल डवलपमेंट एंड एंटरप्रेन्योरशिप) द्वारा कौशल प्रशिक्षण के क्षेत्र में लगातार सर्वश्रेष्ठ राज्य का पुरस्कार जीतने के बाद कौशल, नियोजन एवं उद्यमिता विभाग ने एक बार फिर नई दिल्ली में आयोजित स्कौच अवाड्र्स समिट में प्लेटिनम अवार्ड अपने नाम किया है। दिल्ली में कौशल नियोजन एवं उद्यमिता मंत्री डॉ. जसवंत सिंह यादव तथा आयुक्त एवं विशिष्ट सचिव एसईई कृष्ण कुणाल ने चैयरमेन स्कौच ग्रुप समीर कोछर से यह सम्मान ग्रहण किया।

news of rajasthan

Image: स्कौच अवॉर्ड: कौशल प्रशिक्षण में राजस्थान को लगातार तीसरे वर्ष सर्वश्रेष्ठ राज्य का पुरस्कार.

चार वर्षों में प्रदेश के 6 लाख से ज्यादा युवाओं को किया प्रशिक्षित

मंत्री डॉ. जसवंत सिंह यादव ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश के युवाओं को कौशल प्रशिक्षण एवं रोजगार की अपार संभावनाओं से जोड़ने के लिए विभाग ने कई पहल की हैं। पिछले चार वर्षों में विभाग ने प्रदेश में न केवल 6 लाख 30 हजार से ज्यादा युवाओं को प्रशिक्षित किया है, बल्कि उन्हें कौशल प्रशिक्षण के कई नए क्षेत्रों जैसे फड़ पैंटिग्स, थेरपेटिक स्पा आदि से भी जोड़ा है। आयुक्त एवं विशिष्ट सचिव कृष्ण कुणाल ने कहा कि राजस्थान ने ही देश को उसका प्रथम कौशल विश्वविद्यालय, प्रदान किया है।

Read More: डॉ. किरोड़ीलाल मीणा भाजपा के सच्चे कार्यकर्ता रहे हैं: सीएम राजे

नए आईटीआई संस्थानों की होगी स्थापना, 38 नए ट्रेड जोड़े जाएंगे

आयुक्त एवं विशिष्ट सचिव कुणाल ने कहा कि प्रदेश में निजी कौशल विश्वविद्यालय बीएसडीयू का भी संचालन किया जा रहा है जो कि युवाओं को एन एस क्यू एफ लेवल 5-10 का प्रशिक्षण प्रदान कर रहा है तथा युवाओं को स्विस डुअल सिस्टम के माध्यम से कौशल प्रशिक्षण प्रदान कर रहा है। उन्होंने कहा कि इसी के साथ प्रदेश कुल 1943 आईटीआई के प्रबल नेटवर्क के साथ देश में दूसरे स्थान पर है। अब प्रदेश में आईटीआई की क्षमता बढ़कर 3.87 लाख हो गई है। इसी के साथ प्रदेश में जल्द ही नए आईटीआई की स्थापना भी की जाएगी साथ ही 38 नए ट्रेड भी जोड़े गए हैं।

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.