सचिन पायलट, कांग्रेस राजस्थान प्रदेशाध्यक्ष

राजस्थान विधानसभा जीतने के बाद मुख्यमंत्री के सिंहासन पर बैठने का सपना देख रहे कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट भी मीटू के शिकार होते नजर आ रहे हैं। पायलट पर उनकी नौकरानी से संबंध होने के आरोप लगे हैं। यह भी बताया गया है कि इसी वजह से उनकी पत्नी सारा पायलट ने उन्हें छोड़ दिया है। सचिन पायलट पर यह आरोप लगाया है डॉ.गौरव प्रधान ने। प्रधान एक कम्प्यूटर इंजिनियरिंग एंड मैनेजमेंट सलाहकार हैं और पूर्व में सत्यम कम्प्यूटर्स में रीजनल डायरेक्ट भी रह चुके हैं।  वाक्या कुछ यूं है कि सचिन पायलट ने हाल ही में Me Too पर चल रही आंधी पर महिलावादी बनते हुए बेबाकी से बोलने वाली महिलाओं का हौसला सोशल मीडिया पर बढ़ाया था। इस पर डॉ.गौरव प्रधान ने पायलट से ट्विट कर पूछा है, ‘सचिन पायलट की पत्नी ने उन्हें क्यों छोड़ा! क्योंकि वह अपनी नौकरानी के साथ पकड़े गए थे।’ प्रधान ने यह भी कहा है कि उन्हें उस दिन का इंतजार है जब पायलट की नौकरानी मीटू कैम्पेन के साथ सोशल मीडिया पर सामने आएगी।


बता दें, सचिन पायलट का अभी तक तलाक नहीं हुआ है पर डॉ. गौरव प्रधान के खुलासे के अनुसार उनकी पत्नी सारा पायलट ने उनको छोड़ दिया है।

इस टविट के बाद सचिन पायलट को कोसने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। प्रधान के इस टविट को अब तक 2200 बार रिटविट किया जा चुका है। 263 कमेंट और 3700 लाइक भी आ गए हैं। इनमें से अधिकांश सचिन पायलट को सीधे तौर पर कोस रहे हैं।

इसी बीच जम्मू-कश्मीर के इतिहासकार व सामाजिक कार्यकर्ता ने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से टविट कर पूछा है कि ऐसे शर्मनाक व अनैतिक कार्य के बावजूद सचिन पायलट को पार्टी में क्यों शामिल किया हुआ है।


सचिन पायलट पर गौरव प्रधान का खुलासा गंभीर है, चूंकि सचिन पायलट राजस्थान में कांग्रेस के संभावित मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार भी है। सचिन पायलट एक परिवारवादी नेता है। वह फारुख अब्दुल्ला के दामाद और जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला के जीजा भी हैं। खास बात यह है कि अभी तक कांग्रेस न ही खुद पायलट ने अपनी चुप्पी तोड़ी है। अब ऐसा शख्स जिस पर इस तरह के आरोप लग रहे हैं, चुनावी ताल के बीच मुख्यमंत्री पद की दावेदारी ठोके, कहां तक उचित है।

LEAVE A REPLY