Rally for Rivers
image credit: newswing
Rally for Rivers
image credit: newswing

लंबे अरसे से चल रहा नदी जोड़ो अभियान आज बुधवार को भरतपुर के रास्ते होता हुआ राजस्थान में प्रवेश करेगा। इसके बाद कल यानि 28 सितंबर को जेईसीसी सीतापुरा में एक आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे एवं अभियान के सुत्रधार सदगुरू जग्गी वासुदेव उपस्थित जनसमूह को संबोधित करेंगे। आपको बता दें कि सदगुरू के नेतृत्व में 9 जुलाई, 2017 से सूख रही नदियों के प्रति जन को जागरूक करने के लिए यह अभियान चलाया जा रहा है। नदी अभियान एक राष्ट्रव्यापी अभियान है जो नदियों को बचाने के लिए चलाया जा रहा है।

Sadguru jaggi-vasudev in Nadi Abhiyan
Sadguru jaggi-vasudev

सदगुरू का कहना है, नदी अभियान कोई धरना या विरोध प्रदर्शन नहीं है। यह अभियान इस जागरूकता को फैलाने के लिए है कि हमारी नदियां सूख रही हैं। हर वह इंसान जो पानी पीता है, उसे इस नदी अभियान में अपना सहयोग देगा होगा। ऊंचा नंगला में राज्य सरकार एवं ईशा फाउन्डेशन के संयुक्त प्रावधान में यह जल जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया जाना है। नदी अभियान रैली गुरूवार को ही जयपुर से रवाना होकर अलवर के शाहजहांपुर पहुंचेगी। इस अभियान से जुड़ने के लिए मिस्ड कॉल अलर्ट का सहारा लिया जा रहा है जिसमें 8000980009 पर मिस्ड कॉल देकर अभियान से जुड़ सकते हैं।

read more: मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन योजना से 21 हजारों गांवों में हल होगी पेयजल की समस्या

CM Jal Swavalamban Abhiyan Yojna
Chief Minister Jal Swavalamban Abhiyan Yojna in Rajasthan

दूसरी ओर, जल चेतना के लिए राजस्थान सरकार द्वारा मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान (एमजेएसए) चलाया जा रहा है। बारिश के पानी की एक-एक बूंद को सहेजकर गांवों को जल आत्मनिर्भर बनाना इस अभियान का मूल उद्देश्य है। इस अभियान के तहत अगले 4 सालों में 21 हजार गांवों में जल संरक्षण के कार्य करवाकर पेयजल का स्थाई समाधान किया जाने की योजना है। इस अभियान से न केवल भू-जलस्वर बढ़ा है बल्कि 88 लाख ग्रामीणों को पीने का पानी भी उपलब्ध हुआ है। इसी योजना के फलस्वरूप कल जयपुर के जेईसीसी सीतापुरा में कार्यक्रम को मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे एवं सदगुरू जनसमूह को संबोधित कर जल संरक्षण पर बल देंगे और अभियान की महत्ता बताएंगे।

आपको बता दें कि इस मौके पर द्रव्यवती नदी योजना पर किए जा रहे निर्माण कार्य एवं एमजेएसए कार्यक्रम के जल संरक्षण कार्यों का भी अवलोकन किया जाएगा।

read more: राजस्थान में ‘सौभाग्य’ से मिलेगी 20 लाख गरीब परिवारों को मुफ्त बिजली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here