news of rajasthan
Rajasthan: Guided bomb and anti-tank missile successfully tested.

दुश्मन देशों के किसी भी हमले का माकूल जवाब देने के लिए भारत ने स्वदेश निर्मित गाइडेड बम और एंटी टैंक मिसाइल का राजस्थान में सफल परीक्षण किया। राजस्थान की अलग-अलग फायरिंग रेंज में गाइडेड बम-एसएएडब्ल्यू और एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल ‘हेलिना’ का सफल परीक्षण हुआ। रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार ने रविवार को बताया कि चांधण रेंज में वायु सेना के विमान से स्मार्ट एंटी एयरफिल्ड वीपन (एसएएडब्ल्यू) का सफल परीक्षण हुआ। वहीं, हेलिना का सफल परीक्षण पोखरण में किया गया है।

news of rajasthan
File-Image: राजस्थान: गाइडेड बम और एंटी टैंक मिसाइल का हुआ सफल परीक्षण.

रक्षा मंत्रालय ने बताया कि देश में विकसित गाइडेड बम-एसएएडब्ल्यू युद्धक सामग्री से लैस था और पूरी सटीकता के साथ लक्ष्य पर निशाना साधने में यह कामयाब रहा। बयान में कहा गया, ‘एसएएडब्ल्यू उम्दा दिशासूचक का इस्तेमाल करते हुए विभिन्न जमीनी लक्ष्यों को तबाह करने में सक्षम है।’

दुनिया के अत्याधुनिक एंटी टैंक हथियारों में से एक है भारत की ‘हेलिना मिसाइल’

प्रदेश के जैसलमेर जिले में स्थित पोखरण फायरिंग रेंज में हेलिना मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया। स्वेदश में निर्मित इस एंटी टैंक मिसाइल ने पूरी सटीकता के साथ अपने लक्ष्य को भेद डाला। गौरतलब है कि हेलिना मिसाइल दुनिया में अत्याधुनिक एंटी टैंक हथियारों में से एक है। देश में निर्मित इन हथियारों को डीआरडीओ ने विकसित किया है। गाइडेड बम को भारतीय वायुसेना और हेलिना मिसाइल को थल सेना के लिए तैयार किया गया है। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस कामयाबी के लिए डीआरडीओ टीम को बधाई दी है। उन्‍होंने कहा कि इन हथियारों से देश की रक्षा क्षमता में इजाफा होेगा।

Read More: अक्षय ऊर्जा दिवस: मुख्यमंत्री ने कहा, अक्षय ऊर्जा के स्त्रोतों का उपयोग करने का लें संकल्प

 

LEAVE A REPLY