राजस्थान सरकार ने उद्योग रत्न पुरस्कारों के लिए 29 जून तक मांगे आवेदन

राजस्थान सरकार ने राज्य के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों (एमएसएमई) से 29 जून तक उद्योग रत्न पुरस्कारों के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। विभिन्न श्रेणियों में कुल 14 पुरस्कार दिए जाएंगे। उद्योग एवं राजकीय उपक्रम मंत्री राजपाल सिंह शेखावत ने बताया कि इस वर्ष के उद्योग रत्न पुरस्कारों में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों की प्रत्येक श्रेणी में चार-चार पुरस्कार दिए जाएंगे। इसके साथ ही राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त हस्तशिल्पियों एवं बुनकर वर्ग में से एक-एक पुरस्कार दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस प्रकार कुल 14 पुरस्कार दिए जाएंगे। पुरस्कार स्वरुप एक-एक लाख रुपए नकद, प्रशस्ति पत्र और शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया जाएगा।

news of rajasthan

File-Image: राजस्थान सरकार ने उद्योग रत्न पुरस्कारों के लिए 29 जून, 2018 तक मांगे आवेदन.

महिला उद्यमी व नवाचारों को प्रोत्साहन मिलेगा: उद्योग मंत्री राजपाल सिंह शेखावत

उद्योग मंत्री राजपाल सिंह शेखावत ने कहा कि इन पुरस्कारों से राज्य में उद्योगों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा स्थापित होने के साथ ही प्रदेश में औद्योगिक क्षेत्र में नवाचारों व औद्योगिक प्रतिष्ठानों के साथ महिला उद्यमियों को और अधिक बेहतर कार्य करने का प्रोत्साहन मिलेगा। मंत्री शेखावत ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से घोषित एमएसएमई नीति के तहत प्रदेश में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले उद्यमों को पुरस्कृत करने का प्रावधान किया गया है और इसी की क्रियान्विति में इस साल के पुरस्कारों के लिए 29 जून तक प्रस्ताव मांगे गए हैं। उन्होंने बताया कि उद्योग रत्न पुरस्कारों की विस्तृत जानकारी विभागीय वेबसाइट से प्राप्त की जा सकती है। इसके अलावा जिला उद्योग केन्द्रों से भी संपर्क कर उद्योग रत्न पुरस्कारों के आवेदन, आवश्यक दस्तावेजों आदि की जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

एमएसएमई क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धियों के लिए दिए जाएंगे पुरस्कार

उद्योग आयुक्त व सीएसआर कृष्ण कुणाल ने बताया कि एमएसएमई क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धियों के लिए दिए जाने वाले 12 पुरस्कारों में प्रत्येक वर्ग यानी कि सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को एक टर्नओवर की दृष्टि से सर्वाधिक ग्रोथ, दो पर्यावरण मापदंडोें, ऊर्जा संरक्षण तकनीक को अपनाने, श्रम उत्पादकता बढ़ाने और श्रम कल्याण के क्षेत्र में नवाचारों, तीन सर्वश्रेष्ठ महिला उद्यमी और चार बीमार उद्योग के पुनरुद्धार के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले उद्योगों के प्राप्त आवेदनों में से उत्कृष्टता के आधार पर चयन कर लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उद्योगों को चार-चार अर्थात 12 पुरस्कार दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इसके अलावा एक-एक पुरस्कार राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त हस्तशिल्पियों एवं बुनकरों के प्राप्त आवेदनों में से चयन कर दिया जाएगा।

Read More: राजस्थान को जोधपुर से मुंबई के बीच एसी सुपरफास्ट हमसफर ट्रेन की सौगात

आवेदक को किसी भी आपराधिक मामले में संलिप्त नहीं होने चाहिए

उद्योग आयुक्त व सीएसआर कुणाल ने बताया कि उद्योग रत्न पुरस्कारों के लिए आवेदन करने वाले उद्योग एमएसएमईडी एक्ट 2006 के अंतर्गत ईएम पार्ट-2 या उद्योग आधार प्रमाण पत्र धारक राजस्थान के उद्यम जो गत तीन वर्षों से निरंतर उत्पादनरत होने के साथ ही किसी भी श्रेणी के आवेदक किसी भी आपराधिक मामले में संलिप्त नहीं होने चाहिए। उन्होंने बताया कि राजस्थान उद्योग रत्न पुरस्कारों के लिए विभागीय वेबसाइट या जिला उद्योग केन्द्र पर विस्तृत जानकारी उपलब्ध है। इच्छुक उद्यमी वेबसाइट से आवेदन डाउनलोड कर या जिला उद्योग केन्द्र से आवेदन प्राप्त कर आवेदन मय अनुलग्नकों के व्यक्तिगत या डाक द्वारा संबंधित जिला उद्योग केन्द्र में 29 जून, 2018 तक जमा करा सकते हैं।

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.