news of rajasthan
Image: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत समारोह में एक स्वतंत्रता सेनानी को सम्मानित करते हुए.

प्रदेश में जल्द ही स्वतंत्रता सेनानियों की पेंशन में बढ़ोतरी होने जा रही है। राजस्थान सरकार ने गुरुवार को इसकी घोषणा कर दी है। प्रदेश में स्वतंत्रता सेनानियों की पेंशन में 17 हजार से बढ़ाकर 25 हजार की जाएगी। इसके साथ ही मेडिकल भत्ता भी चार हजार से बढ़ाकर पांच हजार रुपए किया जाएगा। इसके अलावा सरकार ने द्वितीय विश्वयुद्ध के सैनिकों और उनकी विधवाओं की पेंशन में भी बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया है। राज्य सरकार की इस स्कीम का फायदा प्रदेश के जीवित स्वतंत्रता सेनानियों को मिलेगा। गौरतलब है कि इससे पहले पिछली वसुंधरा राजे सरकार ने सैनिकों के परिवारों के हित में कई राहत देने वाले निर्णय लिए थे। सरकार ने स्वतंत्रता सेनानियों की पेंशन वृद्धि के साथ ही शहीद के परिजनों में से एक को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की थी।

द्वितीय विश्वयुद्ध के सैनिकों और उनकी विधवाओं की पेंशन 10 हजार रुपए की

प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को गांधीवादी विचारक एसएन सुब्बाराव के जन्मदिन समारोह में स्वतंत्रता सेनानियों की पेंशन में बढ़ोतरी समेत कई बड़ी घोषणाएं की। जयपुर के बिड़ला ऑडिटोरियम में आयोजित समारोह में सीएम अशोक गहलोत ने द्वितीय विश्वयुद्ध के सैनिकों और उनकी विधवाओं की पेंशन 6 हजार से बढ़ाकर 10 हजार करने का ऐलान किया। इसके अलावा गहलोत ने 1.74 करोड़ बीपीएल और अंत्योदय परिवारों को 1 रुपए किलो में गेंहू उपलब्ध कराने की भी घोषणा की है।

प्रदेश की राजधानी जयपुर में बनाया जाएगा गांधी म्यूजियम

इस समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान की राजधानी जयपुर में गांधी म्यूजियम बनाने की भी बड़ी घोषणा की। इसके साथ ही उन्होंने अहिंसा और शांति विभाग या निदेशालय बनाने पर विचार करने का आश्वासन दिया है। समारोह में सीएम गहलोत ने स्वतंत्रता सेनानी ईश्वर सिंह बेदी, रामेश्वर चौधरी, गोपालराम भांवरा, रामू सैनी, राधेश्याम, शोभाराम, कृष्ण सहाय, जीवाराम और रामजी व्यास सहित कई स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान भी किया। एसएन सुब्बाराव के जन्मदिन समारोह में कई स्वतंत्रता सेनानियों को आमंत्रित किया गया था। गहलोत सरकार ने भले ही कई घोषणाएं कर दी है लेकिन इन्हें कब तक लागू किया जाएगा, यह अभी निश्चित तौर पर नहीं कहा जा सकता।

LEAVE A REPLY