news of rajasthan
Rajasthan elections: Congress workers asked Rahul Gandhi, what happened to your promise?

लंबे इंतजार के बाद गुरुवार देर रात राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए अपने प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी करने वाली कांग्रेस ने अपने ही कार्यकर्ताओं के साथ बड़ा धोखा किया है। दरअसल, कांग्रेस ने अपनी पहली सूची में आधा दर्जन पैराशूट उम्मीदवारों को टिकट दिया है। इन प्रत्याशियों में भाजपा, जमीदारां पार्टी के नेताओं के साथ निर्दलीय प्रत्याशी भी शामिल हैं। इसी के साथ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के राजस्थान दौरों में पार्टी कार्यकर्ताओं से किया गया वादा टूट गया है। राहुल ने राजस्थान में पैराशूट उम्मीदवारों को टिकट न दिए जाने की बात कही थी। उन्होंने प्रदेश में अपने लगभग सभी भाषणों में ये दावा किया था कि ‘पैराशूट उम्मीदवारों की रस्सी मैं खुद काटूंगा’। लेकिन राहुल के दावों ही हकीकत यह है कि पार्टी की पहली ही लिस्ट में 6 विधानसभा सीटों पर ‘पैराशूट’ प्रत्याशियों की लैंडिंग हो गई है।

news of rajasthan
Image: राहुल गांधी.

दो दिन पहले कांग्रेस में शामिल हुए हरीश मीणा और हबीबुर्रहमान को टिकट

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने कार्यकर्ताओं से किए वादे के खिलाफ जाकर दो दिन पहले भाजपा को अलविदा कह कर कांग्रेस का हाथ थामने वाले दौसा सांसद हरीश मीणा को देवली-उनियारा से टिकट दे दी। दूसरे भाजपा नेता और नागौर के विधायक हबीबुर्रहमान को कांग्रेस ने अपना उम्मीदवार घोषित किया है। वे भी दो दिन पहले ही कांग्रेस में शामिल हुए हैं। रात को पार्टी ज्वॉइन करते ही कन्हैयालाल झंवर को बीकानेर पूर्व से टिकट मिला है। उधर, जमींदारा पार्टी छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने वाली रायसिंहनगर विधायक सोनादेवी बावरी को भी कांग्रेस ने टिकट दिया है। पुलिस अधिकारी सवाई सिंह गोदारा को पार्टी में शामिल कर खींवसर से टिकट दिया गया है। पहले बसपा, फिर निर्दलीय विधायक बनने वाले झुंझुनूं की नवलगढ़ विधानसभा सीट से विधायक राजकुमार शर्मा को भी कांग्रेस ने टिकट दिया है।

ये बोले थे राहुल, अगर कोई पैराशूट से आएगा तो वे 200 किमी ऊपर से पैराशूट काट देंगे

हाल ही में राजस्थान में कई जगह दौरा करने वाले राहुल गांधी ने पैराशूट प्रत्याशियों पर अपना एक बयान दिया था। उन्होंने भाषण के दौरान एक बयान दिया जो बड़ा लोकप्रिय हुआ था जिसमें राहुल गांधी ने कहा था कि वह कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की तरफ से दिल्ली में उनके लिए इंसाफ करने बैठे हैं। किसी भी पैराशूट उम्मीदवार को कांग्रेस टिकट नहीं देगी। अगर कोई पैराशूट से आएगा तो वे 200 किलोमीटर ऊपर उसका पैराशूट काट देंगे। लेकिन राहुल का वादा अब सबके सामने हैं। तब राहुल के इस वादे पर कांग्रेस कार्यकर्ता झूमकर ताली बजाते थे और नारेबाजी करते थे, लेकिन गुरुवार देर रात जब कांग्रेस की सूची जारी हुई तो कांग्रेस के 152 उम्मीदवारों की सूची में 6 पैराशूट कैंडिडेट भी टिकट पा गए हैं।

Read More: राजस्थान कांग्रेस की पहली लिस्ट से नाराज कार्यकर्ता राहुल गांधी के घर के बाहर धरने पर बैठे

राहुल से चुनावी सभाओं का वादा पूछ रहे हैं कांग्रेसी कार्यकर्ता

कांग्रेस की लिस्ट देखते ही पार्टी कार्यकर्ताओं ने हंगामा शुरू कर दिया है और राहुल से पूछ रहे हैं कि उस वादे का क्या हुआ जो आप चुनावी सभाओं में कर रहे थे। राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं से एक और वादा किया था और कहा था कि काम करने वालों को टिकट मिलेगा। राहुल ने कहा था कि पार्टी रिश्तेदारों को टिकट नहीं देगी, लेकिन कांग्रेस की लिस्ट पर नजर डालें तो पता चलता है कि पार्टी ने 15 नेताओं के रिश्तेदारों को मौका दिया है। जबकि बीजेपी ने भी 9 नेता पुत्रों को टिकट दिया है। इधर, प्रदेश में कांग्रेस की लिस्ट आते ही बीकानेर में जबरदस्त विरोध शुरू हो गया है। कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे बीडी कल्ला का टिकट कटने से नाराज कल्ला के समर्थकों ने जमकर हंगामा मचाया और कुर्सियां तक जला दीं है। पिछले 15 सालों से कांग्रेस की सक्रिय राजनीति कर रहे पूर्व केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री नमोनारायण मीणा देवली-उनियारा से कांग्रेस का टिकट मांग रहे थे, लेकिन ऐन मौके पर उनके सगे छोटे भाई भाजपा सांसद हरीश मीणा कांग्रेस में शामिल हो गए और अपने ही बड़े भाई का वहां से टिकट उड़े ले गए।

 

LEAVE A REPLY