news of rajasthan
Rajasthan: Congress leader's speech spoils after winning election.

2018 के राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को जनादेश मिला है, लेकिन अभी तक पार्टी आलाकमान प्रदेश के लिए मुख्यमंत्री का नाम तय नहीं कर पाया है। इसी बीच कांग्रेस के एक नवनिर्वाचित विधायक ने ऐसा बयान दिया जिससे कांग्रेस को शर्मिंदगी उठानी पड़ रही है। कांग्रेस विधायक के इस बयान से लगता है कि कांग्रेस जीत को पचा नहीं पा रही है। चित्तौड़गढ़ जिले के बेंगू विधानसभा क्षेत्र से विजयी हुए कांग्रेस विधायक राजेन्द्र सिंह विधूड़ी की जुबान काबू में नहीं है। चुनाव जीतने के बाद उनका बड़बोलापन सामने आने लगा है। विधूड़ी की बात सुनकर ऐसा लग रहा है कि वे अपने क्षेत्र में बस उन्हीं लोगों के लिए काम करेंगे जिन्होंने उन्हें वोट देकर जिताया है।

news of rajasthan
Image: कांग्रेस राजेन्द्र विधूड़ी.

अगले 5 साल विधूड़ी उनसे लड़ेंगे जिन्होंने उन्हें वोट नहीं दिया

बेंगू विधायक राजेन्द्र विधूड़ी से जीत के बाद जब प्रतिक्रिया ली गई तो उन्होंने बड़े बोल बोलते हुए कुछ ऐसा कह दिया जिससे लगता है कि उन्हें अभी से ही सत्ता का घमंड हो गया है। उन्होंने कहा कि चुनाव जीत गए हैं और जनता का काम करेंगे, विकास करेंगे, लेकिन इसके ठीक बाद उन्होंने कहा, जहां से जीते हैं, वहां विकास करेंगे, जहां से हारे हैं, वहां विकास नहीं करेंगे, उस एरिया को जस के तस छोड़ देंगे। अगले 5 साल वे उनसे लड़ेंगे जिन्होंने उन्हें वोट नहीं दिया है। इसके बाद उन्होंने कहा कि जिन कार्यकर्ताओं ने चुनाव लड़ने में उनकी मदद की, वे उनका काम करेंगे, जिन्होंने उनकी मदद नहीं की, उनको वे अनदेखा कर देंगे। उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले उन्हें सर्वे में और सट्टा बाजार में हारते हुए दिखाया और बताया गया, लेकिन जनता उनके साथ थी और जनता ने उन्हें हारने नहीं दिया।

Read More: गहलोत के गढ़ में लगे पायलट को मुख्यमंत्री बनाने के लिए पोस्टर, दो धड़ों में बंटी कांग्रेस

जानकारी के लिए बता दें कि बेंगू सीट से कांग्रेस प्रत्याशी राजेन्द्र विधूड़ी की किस्मत मतगणना के आखिरी के चार राउंड में बदल गई। वे मात्र एक हजार से अधिक मतों से ही चुनाव जीत पाए। विधूड़ी ने पूर्व विधायक सुरेश धाकड़ को 1661 मतों से हराया। इससे पूर्व विधूड़ी का पुरजोर विरोध करते हुए क्षेत्र के कुछ लोगों ने उन्हें चुनाव नहीं लड़ने देने और उन्हें टिकट नहीं देने के लिए दिल्ली में पड़ाव डाल दिए थे, लेकिन लोगों के विरोध का पार्टी आलाकमान पर कोई असर नहीं हुआ था। चुनाव लड़ने के लिए आखिर में कांग्रेस ने राजेन्द्र विधूड़ी को ही टिकट दी। बेंगू से कांग्रेस विधायक विधूड़ी को जीत के लिए बड़ी मशक्कत करनी पड़ी। उनकी जितने वोटों से जीत हुयी है उससे ज्यादा नोटा वोट पड़े।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here