प्रधानमंत्री उज्जवला योजना: 25 लाख 5 हजार 782 उपभोक्ताओं को गैस कनेक्शन जारी

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत राजस्थान के लाखों परिवारों को धुएं से निजात मिली हैं। दरअसल, राजस्थान सरकार में खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री बाबू लाल वर्मा ने विधानसभा में बताया कि एसईसीसी सूची के हिसाब से अभी लगभग 25 लाख 5 हजार 782 उपभोक्ताओं को प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन दे दिए गए हैं। मंत्री वर्मा ने विधानसभा में चल रहे बजट सत्र में प्रश्नकाल के दौरान विधायकों द्वारा पूछे गए पूरक प्रश्नों का जबाव देते हुए यह बात कही।

news of rajasthan

Image: प्रधानमंत्री उज्जवला योजना: राजस्थान में अब तक 25 लाख 5 हजार 782 उपभोक्ताओं को गैस कनेक्शन जारी.

बाकी के गैस कनेक्शन उपभोक्ताओं के औपचारिकता पूरी करते ही कर दिए जाएंगे जारी

खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मंत्री बाबू लाल वर्मा ने बताया कि वर्ष 2018-19 में जितने भी गैस कनेक्शन बाकी है उन कनेक्शन के लिए जैसे ही उपभोक्ता औपचारिकता पूरी कर देगें, उन्हें भी गैस कनेक्शन जल्द ही जारी कर दिए जाएंगे। बता दें कि योजनान्तर्गत जिन उपभोक्ताओं के नाम एसईसीसी सूची और सर्वे मेें है, उन्हीं को प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत लाभ दिया जाता है। साथ ही योजनान्तर्गत उपभोक्तओं को गैस कनेक्शन लेने पर 1600 रुपये का अनुदान भी दिया जाता है।

Read More: राजस्थान: वन विभाग में 2500 पदों पर जल्द ही की जाएंगी नई भर्ती

एसईसीसी सूची के अनुसार अभी कुल 13,532 गैस कनेक्शन जारी किए जाने बाकी

इससे पहले मंत्री वर्मा ने विधानसभा में विधायक गौतम कुमार के मूल प्रश्न का जबाव देते हुए बताया कि राज्य स्तरीय समन्वयक, तेल उद्योग से प्राप्त सूचना अनुसार प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत बड़ीसादड़ी विधानसभा क्षेत्र में जारी किए गए गैस कनेक्शनों की संख्या 17389 (आईओसीएल-1573, एचपीसीएल 3340 एवं बीपीसीएल-12476) है। मंत्री वर्मा ने आगे कहा कि एसईसीसी सूची अनुसार 13532 गैस कनेक्शन जारी कि जाने शेष है। बता दें कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत ऐसे परिवार जिनका नाम पेट्रोलियम मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई एसईसीसी (आर्थिक, सामाजिक एवं जातिगत जनगणना) लिस्ट, 2011 में है, उस घर की किसी भी महिला जिसकी उम्र 18 वर्ष से अधिक हो, के नाम से गैस कनेक्शन जारी करने का प्रावधान है।

गैस कनेक्शनधारियों का ग्राम पंचायत एवं नामवार विवरण वेबसाइट www-mylpg-in एवं तेल कम्पनियों के लिंक पर उपलब्ध है।

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.