जयपुर नगर निगम में रोजाना गुनगुनाया जाएगा राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत

news of Rajasthan

सिनेमाघरों में राष्ट्रगान गाने जाने की तर्ज पर जयपुर नगर निगम में भी इसी तरह का एक फरमान लागू कर दिया गया है। अब से जयपुर नगर निगम में रोजाना सुबह 9:50 बजे राष्ट्रगान और शाम को 5:55 बजे राष्ट्रगीत ‘वंदे मातरम’ गाया जाना अनिवार्य है। नगर निगम मुख्यालय सहित सभी जोन कार्यालय में स्पीकर के साथ सभी को राष्ट्रगान व राष्ट्रगीत गुनगुना होगा। इस दौरान नगर निगम के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों की उपस्थिति अनिवार्य होगी। जिला मुख्यालय सहित सभी जोन कार्यालय में यह नियम लागू होगा। नया नियम आज मंगलवार से अमल में आ चुका है और इसी पालना भी शुरू हो गई है। आज सुबह राष्ट्रीय एकता दिवस पर नगर निगम में सुबह 9:50 बजे राष्ट्रगान गाया गया। अब इसी समय पर रोजाना राष्ट्रगान और शाम को राष्ट्रीय गीत गुनगुनाया जाएगा। जयपुर के मेयर अशोक लाहोटी के अनुसार,अधिकारियों व कर्मचारियों में देशभक्ति, राष्ट्रप्रेम एवं सामूहिकता की भावना जगाने तथा काम के लिए अच्छा माहौल बनाने के लिए निगम ने यह पहल शुरू की है।

news of rajasthan

जयपुर महापौर अशोक लाहोटी

मंगलवार को राष्ट्रीय एकता दिवस पर राष्ट्रगान की शुरुआत के बाद मेयर लाहोटी ने कहा कि वह पिछले 15 दिनों से इसकी तैयारी में लगे थे। इस काम में उन्हें निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ ही विपक्ष के जनप्रतिनिधियों का भी सकारात्मक सहयोग मिला है। सभी राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत को लेकर उठाए गए इस कदम से विपक्ष से भी उन्हें बधाई मिली है। आदेश की पालना के लिए मुख्यालय सहित सभी जोन कार्यालय में स्पीकर लगाए गए हैं। जोन कार्यालय में इसकी पालना की जिम्मेदारी उपायुक्त और निगम मुख्यालय में अतिरिक्त उपायुक्त की होगी।

आपको बता दें कि इस तरह की गतिविधि चर्चा का विषय बनी हुई है। इसकी वजह है कि अभी तक किसी भी सरकारी कार्यालय में ऐसा नहीं हो रहा है। इस तरह की गतिविधियों से कर्मचारियों में देशभक्ति की भावना का संचार तो होगा ही, समय पर कर्मचारी व अधिकारी कार्यालय भी पहुंच सकेंगे। पंचिंग मशीन के संचालन में भी बदलाव किया जा रहा है।

इनका कहना है कि …

“राष्ट्रगान या राष्ट्रगीत के समय जो कार्मिक जहां हो, वहीं सम्मान में खड़ा हो जाए। जरूरी नहीं कि उसे बाहर आना ही पड़े।”

अशोक लाहोटी, महापौर, नगर निगम जयपुर

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.