राजस्थान से भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा को गंगापुरसिटी ग्राम न्यायालय ने दो अलग-अलग मामलों में 6 माह के कठोर कारावास और 1 लाख रु के जुर्माने की सजा सुनाई है। हालांकि फैसला सुनाए जाने के बाद किरोड़ी को जमानत मुचलका भरने पर रिहा कर दिया गया है। गौरतलब है कि 4 जनवरी 2010 को मीणा ने करौली जिले के पांचना बांध के पानी को नहरों में खोलने की मांग को संघर्ष करने का आह्वान किया था। तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने उस क्षेत्र में धारा 144 लागू कर बिना अनुमति जुलूस निकालने व भाषण देने पर प्रतिबंध लगाया था। भाजपा सांसद मीणा सहित 4 जनों को ग्राम न्यायालय की न्याधिकारी जया अग्रवाल ने 6 महीने के कठोर कारावास व रेल बाधित करने के आरोप में क्षतिपूर्ति के तौर पर 1 लाख रु जुर्माना भरने की सजा सुनाई है।

जनता के लिए फांसी भी खाने को तैयार हूं- किरोड़ीलाल मीणा

न्यायालय द्वारा सजा का ऐलान करने के बाद मीणा ने जनता को भावुक प्रतिक्रिया दी है। मीणा ने कहा कि ”मेरा जीवन जनता के लिए है। जनता की समस्याओं को दूर करने के लिए आंदोलन पर कोई सजा मिलती है तो वो फांसी भी झेलने को तैयार है। मैं माननीय न्यायालय के निर्णय का सम्मान करता हूं ,और आगे जो भी कार्यवाही होगी उसका पालन भी करूंगा। साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने जानबूझकर व राजनीतिक द्वेषता की वजह से मेरे ऊपर चल रहे इस मामले को तूल दिया। हम इसके खिलाफ उच्च अदालत में अपील करेंगे।

LEAVE A REPLY