कई सीटों पर एक से ज्यादा मजबूत दावेदार, बागियों के माइक्रो मैनेजमेंट पर बीजेपी का ध्यान

राजस्थान विधानसभा चुनावों के लिए आमेर में बीजेपी की रायशुमारी बैठक चल रही है। आज सोमवार को महामंथन का अंतिम दिन है। इससे पहले रविवार को नागौर, भीलवाड़ा, झूंझुनूं और अलवर की कुल 35 विधानसभा सीटों के लिए फीडबैक लिया गया। अब तक हुई बैठकों में यह बात सामने आई है कि लगभग हर सीट पर कम से कम 4 से 5 मजबूत दावेदार हैं जोकि टिकट की भी मांग कर रहे हैं। इनमें मौजूदा व पूर्व विधायक, सांसद और जिला अध्यक्ष भी शामिल हैं। पार्टी को इनमें से किसी एक को चुनने में खासी मशक्कत करनी पड़ेगी। ऐसे में विधानसभा सीटों को लेकर चल रहे फीडबैक में बीजेपी एक-एक सीट पर बागियों के माइक्रो मैनेजमेंट में पहले से ही जुट गई है। फीडबैक बैठकों के जरिए यह आकलन किया जा रहा है कि जिन लोगों को टिकट नहीं मिलेगा उन्हें बागी बनने से कैसे रोका जाए।

news of rajasthan

File-Image: भारतीय जनता पार्टी.

जहां-जहां राहुल जाएंगे, वहां भाजपा और अधिक मजबूत होगी: राजे

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी इसी महीने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के गृह विधानसभा क्षेत्र वाले जिले झालावाड़ में रोड शो करेंगे। रैली से पहले ही इसके जवाब में सीएम राजे ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस घबराई हुई है, इसलिए प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार राहुल गांधी को विधानसभा स्तर की बैठकें करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि अच्छा है राहुल विधानसभा स्तर की ज्यादा से ज्यादा बैठकें करें। क्योंकि वे जहां-जहां जाएंगे, वहां बीजेपी और अधिक मजबूत होगी। जनता बीजेपी को जिताएगी। मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि भाजपा ने कम से कम राहुल गांधी को मंदिरों में जाना तो सीखा दिया। आज वो लोग मंदिर जाने लगे हैं जो हमारे मंदिरों पर जाने पर सवाल उठाते थे। ये ही कांग्रेसी नेता पहले कहते थे, इनकी सरकार तो भगवान भरोसे चलती है।

Read More: राजस्थान चुनाव: आपराधिक पृष्ठभूमि वाले दावेदारों पर संघ ने जताई आपत्ति

दो ​विधायकों ने अपने बेटों के लिए मांगी टिकट

रायशुमारी बैठक में पहुंचे बहरोड़ से विधायक और मंत्री जसवंत यादव ने अपने बेटे मोहित और पिलानी विधायक सुंदरलाल ने अपने बेटे कैलाश के लिए टिकट की मांग की। जसवंत यादव लोकसभा चुनाव में हारने के बाद पहले ही राजनीति से संन्यास लेने की बात कह चुके हैं। बता दें, रविवार को 35 विधानसभा क्षेत्रों पर फीडबैक लिया गया जिसमें भीलवाड़ा की मांडलगढ़, जहाजपुर, भीलवाड़ा, मांडल, सहाड़ा, शाहपुरा, आसींद और नागौर की जायल, मकराना, डेगाना, लाडनूं, डीडवाना, नागौर, मेड़ता, झुंझुनूं की खींवसर, सूरजगढ़, परबतसर, नावां, पिलानी, उदयपुरवाटी, खेतड़ी और अलवर जिले की अलवर ग्रामीण, कठूमर, मंडावा, नवलगढ़, झुंझुनूं, अलवर शहर, बहरोड़, रामगढ़, बानसूर, किशनगढ़बास, थानागाजी, तिजारा और राजगढ़-लक्ष्मणगढ़ विधानसभा सीटों पर महामंथन किया गया।

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.