मानवेंद्र सिंह के जाने से विधानसभा चुनाव में कोई फर्क नहीं पड़ेगा: भारतीय जनता पार्टी

राजस्थान विधानसभा चुनाव से पहले कुछ नेताओं का दल बदल कार्यक्रम शुरू हो गया है। इसका सबसे पहले हिस्सा बने हैं बाड़मेर जिले के शिव विधानसभा क्षेत्र के विधायक मानवेंद्र सिंह। मानवेंद्र 2013 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीते थे। सिंह पार्टी छोड़कर बुधवार को नई दिल्ली में राहुल गांधी की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल हो गए। उनके दल बदलू होने के बाद बीजेपी की प्रतिक्रिया सामने आई है। मानवेंद्र के कांग्रेस में शामिल होने पर भारतीय जनता पार्टी की राजस्थान इकाई ने बुधवार को कहा कि कोई भी नेता पार्टी से बड़ा नहीं होता। हर व्यक्ति आने जाने के लिए स्वतंत्र हैं। मानवेंद्र सिंह के जाने से आगामी विधानसभा चुनाव में बीजेपी पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

news of rajasthan

File-Image: बीजेपी राजस्थान.

मानवेंद्र ने कांग्रेस का हाथ थामकर कार्यकर्ताओं का अपमान किया: राव राजेन्द्र सिंह

शिव से बीजेपी विधायक मानवेंद्र सिंह के पार्टी छोड़कर कांग्रेस में जाने पर राजस्थान विधानसभा के उपाध्यक्ष और वरिष्ठ बीजेपी नेता राव राजेन्द्र सिंह ने कहा कि मानवेंद्र ने कांग्रेस का हाथ थामकर उन लाखों कार्यकर्ताओं का अपमान किया है, जिन्होंने उन्हें राष्ट्रीय स्तर तक पहचान दी थी। कार्यकर्ताओं ने मानवेंद्र को पहले सांसद बनाया और पिछले चुनाव में विधायक बनाकर विधानसभा भेजा। लेकिन उन्होंने उन्हीं कार्यकर्ताओं और बीजेपी की पीठ पर छुरा घोंपा है। भारतीय जनता पार्टी के इस बयान से पहले मानवेंद्र सिंह को राहुल गांधी के आवास पर राजस्थान कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट ने कांग्रेस की सदस्यता दिलवाई।

Read More: कांग्रेस चाहे कितना ही झूठ फैला लें, सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं: मुख्यमंत्री राजे

मानवेंद्र को केन्द्रीय मंत्री राज्यवर्धन ने याद दिलाया कांग्रेस के 70 सालों का इतिहास

केन्द्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने मानवेंद्र सिंह के बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने के बाद कड़ी प्रतिक्रिया दी है। राठौड़ ने बुधवार को कहा कि यह मानवेंद्र सिंह का निर्णय है लेकिन उनके पिता जसवंत सिंह ने अपना पूरा जीवन उसी कांग्रेस के खिलाफ लड़ते हुए निकाल दिया। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने उनके पिता को वित्त और रक्षा जैसे मंत्रालय देकर सम्मानित किया। इसके बावजूद मानवेंद्र उस पार्टी के साथ गए हैं जिसने पिछले 70 सालों में राजस्थान से किसी भी राजपूत को केन्द्र में मंत्री तक नियुक्त नहीं किया। इधर, राजस्थान बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी ने कहा कि मानवेंद्र सिंह ने लोकसभा चुनाव में बागी का साथ दिया। हमनें उन्हें सस्पेंड कर दिया था और अब उनके कांग्रेस में जाने का बीजेपी को कोई नुकसान नहीं होगा। मानवेंद्र के कांग्रेस में चले जाने पर बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सैनी बेफिक्र दिखे।

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.