ट्रैफिक पुलिस की महिला सब इंस्पेक्टर ने अपनी शादी कार्ड पर छपवाए यातायात के नियम

news of rajasthan

भरतपुर की सब इंस्पेक्टर मंजू फौजदार

राजस्थान पुलिस में तैनात एक महिला पुलिस सब इंस्पेक्टर ने सड़क दुर्घटनाओं पर रोक लगाने के लिए एक नई पहल की है। वह शादी के कार्ड के जरिए लोगों को ट्रैफिक नियमों के बारे में जागरूक कर रही हैं। भरतपुर के कुम्हेर थाना क्षेत्र के गांव बेलारा कला की रहने वाली मंजू फौजदार एक ट्रैफिक सब इंस्पेक्टर है जिनकी पोस्टिंग भरतपुर जिले में है। जहां उसने लोगों को ट्रैफिक रूल्स के प्रति जागरूकता लाने के लिए अपनी शादी के कार्डों पर यातायात नियमों को प्रकाशित कराया है। यातायात नियमों में जागरूकता लाने के लिए किया गया अपनी तरह का यह प्रयास है। मंजू की शादी 19 अप्रैल को होनी है।

news of rajasthan

खुद की ​यातायात नियमों में जागरूकता लाने की एक पहल

भरतपुर ट्रैफिक पुलिस में तैनात महिला सब इंस्पेक्टर मंजू फौजदार ने बताया कि ड्यूटी के दौरान वह देखती हैं कि ज्यादातर युवा ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं करते हैं। बगैर हेलमेट लगाए वाहन चलाते हैं जिसके चलते आए दिन सड़क दुर्घटनाओं में मौतें हो रही हैं। इसलिए लोगों में जागरूकता लाने के लिए अपने रिश्तेदारों और परिचितों को शादी का कार्ड देने के लिए जो कार्ड छपवाए हैं, उनमें यातायात नियमों को अंकित कराया है। इसका मकसद है कि लोग ट्रैफिक नियमों का पालन करें ताकि सड़क दुर्घटनाओं में कमी आए।

पिता-भाई की सड़क हादसों में मौत ने किया प्रेरित

भरतपुर के कुम्हेर थाना क्षेत्र के गांव बेलारा कला की रहने वाली मंजू के पिता ईश्वर सिंह भी पुलिस में सिपाही थे जिनकी सड़क हादसे में मौत हो गई। उस समय वह मात्र 1 साल की थीं। उनके इकलौते भाई देवेंद्र सिंह की भी दुर्घटना में मौत हो गई। अब उसके परिवार में दो बहनें और मां है। उनकी मां ने अपने पति के सपने को पूरा करने के लिए मंजू को बढ़ाया-लिखाया ताकि वह राजस्थान पुलिस में भर्ती हो सके। होश संभालने के बाद मंजू ने संकल्प लिया कि वह एक दिन पुलिस सब इंस्पेक्टर बनकर सड़क हादसों को रोकने का प्रयास करेंगी। अब उसकी कोशिश है कि वह लोगों को यातायात नियमों की जानकारी देने व पालन कराते हुए सड़क दुर्घटना में हो रही मौतों को रोक सकें।

read more: राजस्थान की अपूर्वी चंदेला ने जीता कांस्य पदक, मुख्यमंत्री ने दी बधाई

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.