news of rajasthan

news of rajasthan
राजस्थान रॉयल्स की दो साल बाद आईपीएल में एंट्री तो अच्छी रही लेकिन सफर उतना ठीक नहीं रहा। रविवार को हुए मैच में किंग्स XI पंजाब ने राजस्थान रॉयल्स को 6 विकेट से हरा दिया। यह राजस्थान रॉयल्स की लगातार तीसरी और आईपीएल में छठी हार है। हालांकि इस मैच में पंजाब के केएल राहुल जीत के सूत्रधार रहे लेकिन बैक आॅफ द स्टोरी यह भी है कि राजस्थान की हार में मैच के अम्पायर्स ने भी खलनायक की खासी भूमिका अदा की। अगर ऐसा न होता तो शायद मैच राजस्थान की झोली में होता। राजस्थान का अगला मैच फिर से पंजाब के साथ मंगलवार को होगा। यहां हार का बदला चुकाने का अच्छा मौका टीम के पास है। फिलहाल राजस्थान रॉयल्स 6 मैच में 3 जीत के साथ 6 पॉइंट लेकर अंक तालिका में सबसे नीचे पायदान पर है।

क्यूं बने अम्पायर खलनायक

राजस्थान रॉयल्स की बल्लेबाजी के दौरान मैच के चौथे ओवर में अजिंक्य रहाणे ने मिड आॅफ पर एक कट शॉट खेला जो सीधे क्रिस गेल के हाथों में चला गया। इसे फिल्ड अम्पायर ने सीधे आउट दे दिया लेकिन रिप्ले में बल्लेबाज को संदेह का लाभ दिया जाना चाहिए था क्यूंकि लग रहा था कि बॉल हाथ में आने से पहले जमीन को टच कर गई थी। चूंकि यह फिल्ड अम्पायर का निर्णय था तो रहाणे को पैवेलियन लौटना पड़ा। यहां टीम का स्कोर 35/2 हो गया। इसी तरह, पंजाब की पारी के 14वें ओवर में केएल राहुल 42 के निजी स्कोर पर खेल रहे थे। यहां श्रेयस गोपाल के एक ओवर में मिड आॅफ पर केएल राहुल का एक कैच संजू सैमसन ने डाई लगाकर पकड़ा लेकिन अम्पायर ने निर्णय इसे चौथे अम्पायर को भेज दिया। यहां भी पहले जैसी स्थिति बनी लेकिन संदेह का लाभ राहुल को मिल गया और वह विकेट पर बने रहे। बाद में उन्होंने नॉटआउट 84 रन की पारी खेली।

राजस्थान के बल्लेबाजों का फ्लॉप शो

मैच में पहले बैटिंग करने वाले राजस्थान रॉयल्स के बल्लेबाजों का फ्लॉप शो फिर से देखने को मिला। बटलर (51) और संजू (28) के अलावा कोई बल्लेबाज 2 ओवर भी नहीं खेल पाया। आखिर में श्रेयस गोपाल (24) ने कुछ आकर्षक शॉट लगा टीम को 150 रन के पार पहुंचाया। 12.5 करोड़ की बोली में खरीदे बेन स्टोक्स ने फिर निराश किया और केवल 12 रन बनाए। गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन करते हुए गेल और मयंक अग्रवाल को जल्दी आउट करने के साथ राहुल को लंबे समय तक बांधे रखा और खुलकर शॉट नहीं खेलने दिया। अंत में आर्चर के दो महंगे ओवर के चलते पंजाब ने मैच 6 विकेट से जीत लिया।

read more: सीधे रणजी ट्रॉफी खेलने वाले इकलौते भारतीय खिलाड़ी हैं धौलपुर के तेजिन्दर

LEAVE A REPLY