जैसलमेर फेस्टिवल का आज से हुआ आगाज, विदेशों तक पहुंची मरु महोत्सव की गूंज

दुनियाभर में मशहूर राजस्थान के जैसलमेर का परंपरागत तीन दिवसीय ‘मरू महोत्सव’ का आज से आगाज हो गया है। जैसलमेर फेस्टिवल इस बार 29 से 31 जनवरी तक आयोजित किया जा रहा है। मरु महोत्सव के पहले दिन की शुरूआत आज सोमवार को प्रातः 7.15 से 8.00 बजे तक योग एवं प्राणायाम के साथ हुई। इसके बाद गड़ीसर लेक से प्रातः 9.00 बजे शोभायात्रा को जिला कलक्टर की ओर से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। शोभायात्रा गड़ीसर से आसनी रोड, सालमसिंह हवेली, गोपा चौक, सोनार दुर्ग, मुख्य बाजार से होती हुई सुबह साढ़े दस बजे शहीद पूनमसिंह स्टेडियम पहुंची। इस दौरान रेतीले टीलों पर चलने वाले सेड स्कूटर आकर्षण का केन्द्र बने।

news of rajasthan

File-Image: Jaisalmer-Festival-2018-‘Maru-Mahotsav’.

कालबेलिया नृृत्य, मटका डांस, अग्नि नृत्य सहित बीएसएफ के ऊंट रहे आकर्षण का केन्द्र

मरु महोत्सव के पहले दिन आज कालबेलिया नृृत्य, लावणी नृत्य, मटका डांस, गेर नृत्य, नासिक ढोल कार्यक्रम, अग्नि नृत्य और बीएसएफ के ऊंट आकर्षण का केन्द्र रहे। महोत्सव के पहले दिन घूमर नृत्य भी पेश किया गया। जैसलमेर फेस्टिवल में इसके बाद कई प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया जाएगा। मरु महोत्सव की रोचक एवं आकर्षक मिस मूमल प्रतियोगिता एवं सबसे अंत में महोत्सव की सर्वाधिक प्रतिष्ठा वाली मरु श्री प्रतियोगिता आयोजित होनी है। इस बार जैसलमेर ​फेस्टिवल का आगाज नए रंगों और अभिनव आकर्षक कार्यक्रमों के साथ शुरू हुआ है, जो देशी-विदेशी सैलानियों का जमकर मनोरंजन कर रहा है।

news of rajasthan

File-Image: विदेशों तक पहुंची मरु महोत्सव की गूंज.

दूसरे और तीसरे दिन देशी-विदेशी पर्यटकों के लिए होंगे ये खास कार्यक्रम

जैसलमेर ​फेस्टिवल के दूसरे दिन 30 जनवरी को डेडानसर मैदान में ऊंटों के करतब कार्यक्रम आयोजित होंगे। इसके अलावा ऊंट श्रृंगार प्रतियोगिता, शान-ए-मरुधरा, रस्साकसी प्रतियोगिता आयोजित होगी। मरु महोत्सव के दूसरे दिन सबसे आकर्षक कार्यक्रम सीमा सुरक्षा बल यानी बीएसएफ की ओर से कैमल टेटू शो एवं विश्व का आठवां अजूबा मांउटेन बैंड की प्रस्तुति होगी। जैसलमेर ​फेस्टिवल के तीसरे और आखिरी दिन बुधवार को लाणेला गांव के रिण में घुड़दौड़ का आयोजन प्रातः 9 बजे से होगा। इस घुड़दौड़ में लगभग 200 घोड़े भाग लेंगे। यह दौड़ भी दर्षकों के लिए आकर्षण का केन्द्र होगी। इसके अलावा सम के धौरों पर पतंगबाजी और हॉट एयर बैलून-शो का भी आयोजन किया जाएगा। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने बताया कि मरु महोत्सव का आयोजन जिला पर्यटन विभाग एवं जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वावधान में कराया जा रहा है।

Read More: विश्वकर्मा जयंती आज, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.