news of rajasthan
High enthusiasm for the 'Rajasthan Gaurav Yatra' in vagad.

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे इनदिनों रथ पर सवार होकर संपूर्ण राजस्थान की यात्रा कर रही है। वे अपनी इस 40 दिवसीय चुनावी यात्रा के दौरान प्रदेशभर के सभी जिलों का भ्रमण करेगी। राजे की यात्रा उदयपुर संभाग से शुरू हुई है, वे फिलहाल वागड़ क्षेत्र डूंगरपुर और बांसवाड़ा जिले में है। राजस्थान गौरव यात्रा के तीसरे दिन सोमवार को मुख्यमंत्री राजे का काफिला डूंगरपुर से गैजी, झोथरी, करावड़ा, धम्बोला, चाड़ौली, जोगपुर मोड, सागवाड़ा, माही पूल, गढ़ी होते हुए बांसवाड़ा जिले में पहुंचा। मुख्यमंत्री का रथ जहां से भी गुजरा उन्होंने गांव-ढ़ाणियों में रूक-रूककर लोगों का अभिनन्दन स्वीकार किया। गौरतलब है कि मेवाड़-वागड़ होकर ही राजस्थान की सत्ता का रास्ता गुज़रता है। इस क्षेत्र से अधिक विधानसभा सीटें जीतने वाली पार्टी अक्सर सरकार बनाने में कामयाब होती रही है।

news of rajasthan
Image: राजस्थान गौरव यात्रा के दौरान वागड़ में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का जगह-जगह स्वागत करते हुए लोग.

मुख्यमंत्री के सवाल का बच्चों ने बड़ी सादगी से दिया जवाब

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इस दौरान वागड़ क्षेत्र के लोगों से विकास कार्य संबंधित सवाल भी पूछे। उन्होंने लोगों से पूछा कि आपके गांव में विकास कार्य हुए या नहीं। इस पर लोगों ने कहा कि उनके यहां पिछले साढ़े चार साल में जितना विकास हुआ है पहले कभी नहीं हुआ। राजे लोगों से आत्मीयतापूर्वक बातचीत कर उनके हाल-चाल भी जाने। मेवाड़ा गांव में बड़ी संख्या में बच्चे व महिलाएं उनका स्वागत करने के लिए जमा थे। उन्होंने दो बच्चों किशन पारगी और नीलेश पारगी से पूछा कि मुझे पहचानते हो क्या, मैं कौन हूं। बच्चों ने सीएम के इस सवाल का जवाब देते हुए बताया, आप हमारी मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया है।

Read More: मुख्यमंत्री ने डूंगरपुर में किया 189 करोड़ की लागत के मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण

राजे के स्वागत में उमड़ा पड़ा लोगों का हुजूम

राजस्थान गौरव यात्रा के दौरान जगह-जगह मुख्यमंत्री राजे का स्वागत करने के लिए लोगों का भारी हुजूम उमड़ पड़ा। लोग सड़कों के किनारे और छतों पर चढ़कर अपनी मुख्यमंत्री की एक झलक देखने के लिए आतुर दिखाई दे रहे थे। कई जगहों पर ढोल-नगाड़े और पटाखों के साथ राजे का स्वागत किया गया। सीएम राजे का लोगों ने जगह-जगह फूल-मालाओं और चुनरी ओढ़ाकर अभिनंदन किया।

 

LEAVE A REPLY