news of rajasthan
राज्यपाल कल्याण सिंह, मुख्यमंत्री वसुन्धरा ​राजे और विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल (बाएं से)
news of rajasthan
राज्यपाल कल्याण सिंह, मुख्यमंत्री वसुन्धरा ​राजे और विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल (बाएं से)

आज चेटीचण्ड का पवित्र पर्व है। इस उपलक्ष्य में राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह, विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल और मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने सभी प्रदेशवासियों को शुभकामनाओं के साथ बधाई संदेश प्रेषित किया है। चेटीचण्ड पर्व के अवसर पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं देते हुए राज्पाल कल्याण सिंह ने कहा, ‘वरूण अवतार भगवान झूलेलाल की आराधना में मनाये जाने वाले चेटीचण्ड का विशेष महत्व है, जिन्होंने समाज में सद्भाव, समानता, भाईचारे और मैत्री का संदेश देकर नैतिक और मानवीय मूल्यों की राह दिखाई थी। उनके संदेश समाज के लिए आज भी प्रासंगिक हैं।’

news of rajasthan
भगवान झूलेलाल

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने अपने शुभकामना संदेश में कहा, ‘भगवान झूलेलाल ने त्याग, प्रेम व अहिंसा जैसे मानवीय मूल्यों की स्थापना की। भगवान झूलेलाल जल के देवता वरूण के अवतार माने जाते हैं, जिन्होंने समाज को उन्नति के पथ पर अग्रसर किया।’ उन्होंने प्रदेशवासियों को भगवान झूलेलाल के आदर्शों को आत्मसात कर प्रदेश को उन्नत और खुशहाल बनाने में अपनी सक्रिय भूमिका निभाने का आव्हान किया है।

विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने प्रदेशवासियों को चेटीचण्ड पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी है। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा, ‘हमारा भारतीय कलेण्डर वैज्ञानिक दृष्टि से अति उत्तम है। नव संवत्सर पर दो ऋतुओं का मिलन होता है। नई ऋतु का आगमन हमारे जीवन में नई आशा और ऊर्जा का संचार करता है।’

आगे उन्होंने कहा कि वरूण अवतार भगवान श्री झूलेलाल ने समाज में समरसता कायम करने के लिए जो मार्ग दिखाया वह हमारे लिए आज भी अनुकरणीय है। उन्होंने समाज में व्याप्त अन्याय, दुराचार और हिंसा पर त्याग, समर्पण, प्रेम, सद्भाव और अहिंसा के माध्यम से विजय प्राप्त करने की राह दिखाई।

इन सभी के साथ विधानसभा उपाध्यक्ष राव राजेन्द्र सिंह, सरकारी मुख्य सचेतक कालू लाल गुर्जर और सरकारी उप मुख्य सचेतक मदन राठौड ने भी नव संवत्सर एवं चेटीचण्ड पर प्रदशवासियों को बधाई दी है।

read more: चेटीचण्ड 19 मार्च को, जानिए.. क्यों मनाया जाता है यह खास पर्व

LEAVE A REPLY