फुलेरा के 58 गांव, 300 ढाणियों तक पहुंचा पीने का मीठा पानी

news of rajasthan

जलदाय विभाग के प्रयासों से जयपुर जिले की फुलेरा तहसील के गांव-ढ़ाणियों को बीसलपुर पेयजल परियोजना से जोड़कर इन क्षेत्रों में मीठा पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। अब तक जोबनेर-किशनगढ़ व 58 गांव और उनकी 300 ढाणियों को बीसलपुर पेयजल परियोजना से जोड़कर लाभान्वित किया जा चुका है। शेष बचे गांवों और कस्बों में भी जल्द ही शुद्ध पेयजल उपलब्ध होने लगेगा। बता दें, पिछले दिनों प्रमुख शासन सचिव रजत कुमार मिश्र ने इस परियोजना के कार्य का निरीक्षण किया और और कार्य को तेजी से पूरा करने के निर्देश भी दिए। वर्तमान में 8 टीमें विभिन्न गांवों में कार्य कर रही है।

जिले के किशनगढ़-रेनवाल व ज्यादातर गांव जैसे बधाल, मुन्डियागढ़, ईटावा, बाघावास, त्योदा, त्योद, भादरपुरा, रोजड़ी, हिरनोदा, काचरोदा, करनसर, हरसोली, पीपली का बास, सिनोदिया, जोरपुरा आदि में पेयजल की भारी कमी थी और उपलब्ध पानी में फ्लोराइड व टी.डी.एस. की मात्रा बहुत ज्यादा थी। ऐसे में बीसलपुर पेयजल परियोजना से क्षेत्रवासियों को मीठा पानी मिलने लगा है।

news of rajasthan

उल्लेखनीय है कि जयपुर जिले की ग्रामीण क्षेत्र के फुलेरा तहसील के 173 गांव व 2 कस्बों में पेयजल की कमी को दूर करने के लिए बीसलपुर दूदू पेयजल परियोजना का कार्यदेश मै. प्रतिभा इन्डस्ट्रीज लिमिटेड, मुम्बई को कार्यादेश जारी किया गया था। इसके तहत फुलेरा विधानसभा क्षेत्र के 106 गांव एवं कस्बा किशनगढ़-रेनवाल तथा झोटवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के 67 गांव एवं कस्बा जोबनेर को पेयजल से लाभान्वित किया जाना प्रस्तावित है।

वर्तमान में परियोजना का 75 प्रतिशत कार्य पूर्ण किया जा चुका है और शेष बचा काम भी जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा। परियोजना के अंतर्गत 3 स्वच्छ जलदाय सांभर जोबनेर एवं मुडियागढ़ तथा 28 उच्च जलाशयों का निर्माण कार्य पूर्ण किया जा चुका है। साथ ही 1800 पीएसपी, 120 सीडब्ल्यूटी, 155 वीटीसी का निर्माण कार्य भी पूर्ण किया जा चुका है।

read more: JEE Main 2018: टॉप 10 में राजस्थान के तीन छात्रों ने जगह बनाई

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.