विकास कार्यों ने बदली पीपल्दा विधानसभा क्षेत्र की कहानी: सीएम राजे

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान लोगों ने कहा कि, पहले पीपल्दा विधानसभा क्षेत्र में आना काले पानी की सजा की तरह था। कोई भी यहां आना नहीं चाहता था। किसी अधिकारी-कर्मचारी की पोस्टिंग यहां होती थी तो वह जल्द से जल्द यहां से जाना चाहता था, लेकिन पिछले साढ़े चार साल में इस क्षेत्र में विकास की जो गंगा बही है, उससे यहां की तस्वीर और यहां के लिए लोगों की सोच पूरी तरह बदल गई है। सीएम राजे से बुधवार को कोटा के इटावा में पीपल्दा विधानसभा क्षेत्र के जनसंवाद के दौरान स्थानीय लोगों ने इस तरह के विचार व्यक्त किए। लोगों ने कहा कि उन्हें ऐसी उम्मीद नहीं थी कि मात्र साढ़े चार वर्ष में उनके क्षेत्र में सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, विद्युत सहित अन्य सुविधाओं का इतना बेहतरीन विकास होगा। यह सब राज्य सरकार की समग्र विकास की सोच से ही संभव हुआ है।

news of rajasthan

Image: कोटा जिले के पीपल्दा विधानसभा क्षेत्र में जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान मुख्यममंत्री वसुंधरा राजे.

अभूतपूर्व विकास के लिए मुख्यमंत्री का बारम्बार आभार व्यक्त किया

पीपल्दा विधानसभा क्षेत्र के लोगों ने पिछले साढ़े चार साल में क्षेत्र में हुए अभूतपूर्व विकास के लिए सीएम राजे का बारम्बार आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि हमारी सरकार ने हर क्षेत्र के विकास के लिए जो काम हाथ में लिए थे, वो अब धरातल पर नजर आ रहे हैं। विकास के इन कामों का फायदा आने वाले समय में और अधिक देखने को मिलेगा। जैसे-जैसे हमारी बड़ी परियोजनाएं पूरी होती जाएंगी, वैसे-वैसे नये राजस्थान की सूरत सामने आती जाएगी। हम ऐसा समृद्ध और विकसित राजस्थान आपको देना चाहते हैं, जिसका हम दशकों से सपना देख रहे थे। उन्होंने क्षेत्रवासियों से कहा कि आप इसी तरह प्यार, विश्वास और आशीर्वाद बनाए रखें ताकि हम इस मिशन को जल्द किया जा सकें।

news of rajasthan

Image: जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान किसानों से मिलती हुई सीएम राजे.

1573 करोड़ रूपए के विकास कार्यों से बदली पीपल्दा की तस्वीर

मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि पीपल्दा विधानसभा क्षेत्र की तस्वीर बदलने के लिए पिछले साढ़े 4 वर्ष में 1573 करोड़ रूपए के विकास कार्य स्वीकृत किए गए, जबकि पिछली सरकार ने अपने पूरे कार्यकाल में 360 करोड़ रूपए ही व्यय किए थे। हमने इटावा में नया राजकीय महाविद्यालय स्थापित करने के साथ-साथ परवन-अकावद पेयजल परियोजना और हरिपुरा मांझी पेयजल योजना की स्वीकृति जारी की है। सीएम राजे ने कहा कि राज्य राजमार्ग योजना के तहत 121 करोड़ रूपए की लागत से गैंता माखीदा पुलिया के लिए सड़क निर्माण कार्य चल रहा है। साथ ही, कोटड़ादीप सिंह, रेलगांव, लुहावद, गैंता, डूंगरली, सनमानपुरा में 33 केवी क्षमता के सब स्टेशन स्थापित किए गए हैं।

Read More: मुख्यमंत्री राजे ने पीपल्दा को दी 210 करोड़ लागत​ की कई सौगातें

सीएम राजे ने कहा कि ग्रामीण गौरव पथ योजना के तहत 21 करोड़ रूपए की लागत से 27 किलोमीटर से अधिक लंबाई की 30 सड़कों के कार्य पूरे करवाए हैं। वहीं 7 करोड़ रूपए की लागत से 12 किलोमीटर के मिसिंग लिंक सड़कों के कार्य पूरे हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि आरआईडीएफ में साढ़े 27 करोड़ रूपए की लागत से 96 किलोमीटर लम्बी 27 सड़कों का नवीनीकरण हो चुका है। 9 हजार 830 परिवारों को घरेलू बिजली कनेक्शन और 753 कृषि कनेक्शन भी जारी किए गए हैं। सीएम राजे ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने यहां 70 आदर्श एवं 41 उत्कृष्ट विद्यालय स्थापित किए गए हैं। साथ ही 4 आदर्श प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भी विकसित किए गए हैं।

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.