ज़ीका वायरस जानलेवा नहीं, जागरुकता व स्वच्छता है बचाव की कुंजी…

मुख्य सचिव डी.बी.गुप्ता ने कहा है कि प्रदेश सरकार ज़ीका वायरस से बचाव के लिए पूरी तरह से तैयार है।

news of rajasthan

ज़ीका वायरस

इन दिनों ज़ीका वायरस मच्छर से फैलने वाले रोग के चलते प्रदेशभर में दशहत का माहौल बना हुआ है। इसी पर प्रकाश डालते हुए मुख्य सचिव डी.बी.गुप्ता ने कहा है कि जीका वायरस से घबराने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि यह रोग प्राणघातक नही हैं इसलिए इससे पैनिक होने की आवश्यकता नहीं है। बचाव के तौर-तरीकों से आमजन को जागरूक बना कर हम इस बीमारी से बच सकते हैं। ज़ीकस वायरस से सम्बधित सभी जांच सुविधायें एवं आवश्यक दवाईयां एसएमएस अस्पताल में उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि सरकार जीका वायरस से बचाव के लिए पूरी तरह से तैयार है।

Read more: बार एसोसिएशन की ओर से केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए मुख्यमंत्री को 2.32 लाख का चेक भेंट

सचिवालय में ‘जीका वायरस‘ से बचाव और आम लोगों को इसके संबंध में जागरूक करने के उद्देश्य से चिकित्सा अधिकारियों की एक बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘ज़ीका वायरस मच्छर जनित बीमारी है, इसलिए सबसे पहले हमें साफ सफाई और मच्छर रहित, साफ-सुथरा वातावरण बनाना होगा। इसके लिए स्कूलों में प्रार्थना सभा में छात्र-छात्राओं को जागरूक किया जा सकता है। जुम्मे की नमाज, रामलीला जैसे सार्वजनिक अवसरों पर भी इस रोग से बचाव के तरीको से आम जनता को जागरूक किया जा सकता है।’ उन्होंने सभी सीएमएचओ को निर्देश दिए कि इस समय कोई भी डॉक्टर छुट्टी पर नहीं जाएं।

news of rajasthan

सचिवालय में अधिकारियों की बैठक लेते हुए मुख्य सचिव डी.बी.गुप्ता।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव वीनू गुप्ता ने जानकारी दी कि मौसमी बिमारियों के लिहाज से 15 नवम्बर तक का समय क्रिटिकल है। प्रभावित क्षेत्रों में मेडिकल टीम घर-घर जाकर नागरिकों का स्वास्थ्य परीक्षण कर रही है। मच्छरों के लार्वा को नष्ट करने का व्यापक अभियान भी चालू है। सोशल मीडिया व रेडियो पर ज़ीका वायरस से बचाव और आमजन को जागरुक करने के लिए प्रचार किया जा रहा है।

जीका वायरस भी उसी मच्छर से फैलता है जिससे डेंगू तथा चिकनगुनिया फैलता है, इसलिए इस मच्छर को पनपने से रोककर इन तीनों बीमारियों से बचाव किया जा सकता है। जीका वायरस के लिए टेस्ट की सुविधा जयपुर के एसएमएस के अलावा झालावाड़, बीकानेर, जोधपुर तथा कोटा में उपलब्ध है। मुख्य सचिव डी.बी.गुप्ता

बैठक में स्वास्थ्य सचिव नवीन जैन, चिकित्सा शिक्षा सचिव आशुतोष पेंडनेकर, सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के आयुक्त रवि जैन, जयपुर जिला कलेक्टर सिद्धार्थ महाजन, सीओ नगर निगम एम.एल.यादव, एसएमएस अस्पताल के प्रिन्सिपल डॉ.सुधीर भंडारी, जन स्वास्थ्य निदेशक डॉ.वी.के.माथुर एवं केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Read more: इस महीने घरों में दस्तक देंगे ये त्योहार, जानिए इनके बारे में

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.