हमने विकास के नाम पर सिर्फ पत्थर नहीं लगाए: मुख्यमंत्री राजे

जोधपुर में दो दिवसीय दौरे पर पहुंची मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे, पहले दिन 1632 करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास

news of rajasthan

मंच पर मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे का अभिनंदन करते हुए।

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे अपने दो दिवसीय दौरे पर जोधपुर पहुंची हैं। आज उनके दौरे का दूसरा दिन है। पहले दिन गुरूवार को उन्होंने लोक देवता वीर तेजाजी ओवर ब्रिज के लोकार्पण करने के साथ करीब 75 करोड़ की लागत वाले भैरोंसिंह शेखावत ओवर ब्रिज के शिलान्यास किया। ओवर ब्रिज की लागत 74 करोड़ रूपए आयी है। यहां आमजन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पिछली सरकार की जोधपुर विकास प्राधिकरण ने सरकार के आखिरी 6 महीनों में बिना वित्तीय स्वीकृति के ताबड़तोड़ पत्थर लगाए लेकिन विकास कार्यों पर एक पैसा भी खर्च नहीं हुआ। साथ ही 1200 करोड़ रुपए का कर्ज छोड़ गए। हमारी भाजपा सरकार ने जोधपुर जिले में विकास कार्यों के लिए पिछले साढे़ चार साल में 13 हजार 500 करोड़ रूपये मंजूर किए, जबकि पिछली सरकार के पूरे पांच साल के कार्यकाल में करीब साढे़ चार हजार करोड़ ही इस जिले के विकास में खर्च हुए हैं।

झूठे वादे करने की मेरी आदत नहीं है…

राजे ने कहा, ‘हमारी सरकार पर कुछ लोग आरोप लगाते हैं कि जोधपुर के विकास के लिए हमने पैसा नहीं दिया। लेकिन मैं कहना चाहती हूं कि झूठे वादे करने की मेरी आदत नहीं है, जो वादे मैंने किए, उन्हें पूरा करने का भी काम किया है।’

आज के कार्यक्रमों में माताओं और बहनों ने जो चुनरी मुझे ओढाई है, वो वजन में हल्की जरूर है, लेकिन इसके साथ जो जिम्मेदारी का बोझ आप लोगों ने मेरे कंधों पर रखा है, उसका मुझे अहसास है। इस चुनरी की इज्जत बनाये रखते हुए अपनी जिम्मेदारी को मैं पूरी तरह निभाऊंगी। आपका आशीर्वाद और प्यार मेरी ताकत है। मैंने जिस दिन मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी उसी दिन मैंने कहा था कि मैं राज करने नहीं, सेवा करने आई हूं। – मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे

उन्होंने बताया कि काम करने वालों का रास्ता आसान नहीं होता। जिन्हें काम नहीं करना होता है, वें मीठी बातें कर जनता को बरगलाते हैं और विकास के नाम पर सिर्फ पत्थर लगा देते हैं। हमारी सरकार ने जो अच्छे कार्य किए हैं, उनको देखते हुए आप भी अपना पूरा प्यार और सहयोग करेंगे तो हम मिलकर राजस्थान को अग्रणी प्रदेश बनायेंगे। यदि लोग अच्छा काम करने वालों का साथ देंगे, तो प्रदेश फिर से गढ्ढे में नहीं जाएगा और जनता को भी इसका लाभ मिलेगा।

जोधपुर जिले को मिलेगा मीठा पानी

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने जोधपुर के लोगों को पेयजल की कमी से छुटकारा दिलाने के लिए कई महत्वपूर्ण काम किए हैं। माणकलाव दांतिवाड़ा क्षेत्रीय जलप्रदाय योजना का शुभारंभ हुआ है। इससे भोपालगढ़ और बिलाड़ा के 119 गांवों और 2 शहरों को हिमालय का मीठा पानी मिलेगा। इसी तरह देवानिया नाथड़ाऊ क्षेत्रीय जलप्रदाय योजना से शेरगढ़ तथा लोहावट के 248 गांवों को पीने के लिए हिमालय का मीठा पानी मिलेगा। बावड़ी कल्ला खारा जलोड़ा क्षेत्रीय जलप्रदाय योजना से फलौदी तथा लोहावट के 43 गांवों को शुद्ध पेयजल मिलेगा। हमने पीलवा-सादड़ी जंबेश्वर नगर पेयजल परियोजना का काम पूर्ण कर 15 गांवों में पेयजल आपूर्ति शुरू कर दी है। आज जनता को समर्पित इन योजनाओं से जोधपुर के लोगों को जल संकट से राहत मिलेगी।

आधुनिक तकनीक से बनेगी रिफाइनरी

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि रिफाइनरी का फिर से एमओयू कर हमारी सरकार ने प्रदेश की जनता की गाढ़ी कमाई के 40 हजार करोड़ रूपए बचाए हैं। प्रदेश में आधुनिक तकनीक से युक्त रिफाइनरी बनेगी, जिसे लोग लम्बे समय तक याद रखेंगे।

यह सभी रहे उपस्थित

इस अवसर पर पंचायतीराज मंत्री राजेन्द्र राठौड़, पीएचईडी मंत्री सुरेन्द्र गोयल, यूडीएच मंत्री श्रीचन्द कृपलानी, खेल मंत्री गजेन्द्र सिंह खींवसर, केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, केन्द्रीय विधि एवं न्याय राज्यमंत्री पीपी चौधरी, राज्यसभा में मुख्य सचेतक नारायण पंचारिया, मंत्री कमसा मेघवाल, राज्य बीज निगम के अध्यक्ष शंभू सिंह खेतासर, सांसद रामनारायण डूडी, कर्नल सोनाराम, विधायक सूर्यकांता व्यास, बाबूसिंह राठौड़, कैलाश भंसाली एवं जोधपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष महेन्द्र सिंह राठौड़ सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

Read more: योग के बाद संतों का आशीर्वाद लेने जोधपुर पहुंची मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.