सीएम राजे ने कहा, ई-कॉमर्स पोर्टल से जुड़ेंगे राजस्थान के आर्टिजंस

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि वर्तमान सरकार जीवन यापन करने की दृष्टि से कृषि के बाद राज्य के दूसरे महत्वपूर्ण क्षेत्र शिल्पकला के विकास के लिए हरसंभव कार्य कर रही है। इसके साथ ही शिल्पकला क्षेत्र से जुड़े आर्टिजंस के लिए भी सरकार पूरी तरह समर्पित है। सीएम राजे ने कहा कि आर्टिजंस को ई-कॉमर्स पोर्टल्स से जोड़ने की दिशा में काम चल रहा है, जिससे उत्पादों की नेशनल और इंटरनेशनल लेवल पर अच्छे से मार्केटिंग की जा सकेगी। राजे ने झालाना सांस्थानिक क्षेत्र स्थित भारतीय शिल्प संस्थान-आईआईसीडी (इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ क्रॉफ्ट्स एंड डिजाइन) के छठे दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए यह बात क​ही।

cm-raje-at-convocation-ceremony-iicd-jaipur.

प्रदेश में आर्टिजंस के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पर चल रहा है काम:

मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि राजस्थान में आर्टिजंस के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पर इन दिनों काम किया जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि हैरिटेज फैशन वीक जैसे सफल आयोजनों से स्थानीय आर्टिजंस को दुनिया के जाने-माने आर्टिजंस के साथ काम करने का मौका मिला है, साथ ही स्थानीय आर्टिजंस को उनके अनुभवों से सीखने का अवसर भी मिला।

हमारे शिल्पियों ने विश्वभर में प्रदेश को पहचान दिलाई: सीएम राजे ने कहा कि राजस्थान शिल्पकला, हस्तशिल्प और दस्तकारी के क्षेत्र में हमेशा से एक समृद्ध राज्य रहा है। राजस्थान को ब्लू पॉटरी, स्टोनवर्क, ज्वैलरी, लेदरवर्क, टेराकोटा आदि के क्षेत्र में प्रदेश के कुशल शिल्पियों ने पूरे विश्व में एक अलग पहचान दिलाई है। इसी कारण से यूनेस्को ने जयपुर को वर्ष 2015 में ‘सिटी ऑफ क्राफ्ट्स एंड फोक आर्ट्स’ के रूप में पहचान दी। राजे ने आगे कहा कि वर्ल्ड क्राफ्ट्स काउंसिल ने भी जयपुर को ‘क्राफ्ट्स सिटी’ घोषित किया था।

Read More: मानुषी छिल्लर बनीं मिस वर्ल्ड 2017, ख़िताब जीतने वाली छठी भारतीय सुंदरी

ग्रामीण क्षेत्र में लोगों की स्थायी आजीविका है क्राफ्ट्स: मुख्यमंत्री ने कहा कि शिल्पकला राजस्थान संस्कृति की पहचान तो है ही साथ ही दूर-दराज के क्षेत्र में आजीविका का एक स्थायी स्त्रोत भी है। सीएम राजे ने आगे कहा कि खेती के बाद शिल्पकला ग्रामीण क्षेत्र में सबसे अधिक रोजगार के अवसर देता है। उन्होंने कार्यक्रम के दौरान शिल्प कला संस्थान के तीन छात्राओं को एकेडमिक एक्सीलेंस अवार्ड तथा 81 विद्यार्थियों को कोर्स डिप्लोमा एवं सर्टिफिकेट प्रदान किए।  सीएम ने संस्थान की स्मारिका ‘निरुपण’ तथा स्टूडेंट्स द्वारा प्रकाशित पत्रिका ‘चीसेल’ का भी विमोचन किया।

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.