Annapurna-Rasoi-Yojna-Rajasthan.

अब प्रदेश के सभी नगरीय क्षेत्रों में सरकार की अन्नपूर्णा रसोई योजना का लाभ उठाया जा सकेगा। इस योजना के तहत जरूरतमंदों को कम से कम कीमत में भरपेट पौष्टिक एवं स्वच्छतायुक्त भोजन उपलब्ध होगा। अन्नपूर्णा रसोई योजना का प्रदेश के सभी नगरीय क्षेत्रों में विस्तार की शुरूआत सोमवार को अजमेर के विजयलक्ष्मी पार्क में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने की। विस्तार योजना शुभारंभ के अवसर पर सीएम राजे ने भोजन का स्वाद चखा और अपने हाथों से एक महिला को खाना भी खिलाया। इस मौके पर यूडीएच मिनिस्टर श्रीचंद कृपलानी और महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री अनिता भदेल भी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री और यूडीएच मिनिस्टर ने हरी झंडी दिखा वैनों को रवाना किया।

news of rajasthan
                                                              CM-Raje-at-annapurna-rasoi-yojana-launching.

5 रूपए में नाश्ता 8 रूपए में भरपेट भोजन: सरकार की इस योजना के तहत सभी श्रेणी के जरूरतमंदों, श्रमिकों, कर्मचारियों, बुजुर्गों, महिलाओं, विद्यार्थी, आम नागरिक व अन्य असहाय व्यक्तियों को सुबह 5 रूपए में नास्ता और 8 रूपए में दोपहर व रात्रि का भोजन कराया जाएगा। प्रति वैन में अब तक 100 लोगों के भोजन की व्यवस्था थी जिसे बढ़ाकर अब 300 व्यक्ति प्रति वैन कर दिया गया है। यानि कि वैन के एक टाइम के नाश्ता या भोजन से 300 व्यक्तियों को खाना खिलाया जा सकता है।

2016 में हो गई थी प्रथम चरण की शुरूआत: अन्नापूर्णा रसोई योजना के प्रथम चरण की शुरूआत 15 दिसंबर 2016 को मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने जयपुर से की थी। योजना के प्रथम चरण में राज्य के 12 शहरों में कुल 80 अन्नपूर्णा वैन लगाई गई थी। इस योजना का संचालन स्वायत्त शासन विभाग, राजस्थान सरकार द्वारा किया जा रहा है। योजना का संचालन स्वायत्त शासन विभाग के अधीन निविदा प्रक्रिया के आधार पर चयनित संस्था ‘जीवन संबल चेरीटेबल ट्रस्ट संस्था’ द्वारा किया जा रहा है।

news of rajasthan
            500 smart rasoi vans will be benefitted by providing meals at an easy rate of 4,50,000 persons per day.

अब तक 17,000 लोगों को मिल रहा था लाभ: अन्नपूर्णा रसाई योजना के प्रथम चरण में 12 शहरों में 80 वैनों का संचालन किया जा रहा था जिसके माध्यम से लगभग 17 हजार लोगों को  प्रतिदिन लाभान्वित किया जा रहा था। अब नाश्ते की मात्रा को बढ़ाकर 250 ग्राम से 350 ग्राम कर दिया गया है वहीं भोजन की मात्रा को 350 से बढ़ाकर 450 ग्राम किया गया है।

मैन्यू के अलावा ये भी होंगे उपलब्ध: अन्नपूर्णा योजना में उपलब्ध वर्तमान मैन्यू के अलावा सब्जी, चावल, चपाती इत्यादि भी उपलब्ध करवाई जाएगी। नवीन रसाई वैनों में आॅनलाइन सीसीटीवी कैमरा के माध्यम से पूर्णत: ई-मोनेटरिंग व्यवस्था कर दी गई है।

Read More: राजस्थान के इस गांव में 10 हजार ग्रामीणों ने एक साथ छोड़ी शराब

191 नगर निकायों के करीब 5 लाख लोग होंगे लाभान्वित: भूख से लड़ाई के लिए अन्नपूर्णा रसोई योजना सरकार एक अहम कदम है। राजस्थान के सभी 191 निकायों में 500 स्मार्ट रसोई वैनों के माध्यम से प्रतिदिन 4,50,000 व्यक्तियों को सुगम रेट पर भोजन उपलब्ध कराकर लाभान्वित किया जाएगा।

LEAVE A REPLY