news of rajasthan
CM Raje inaugurated a high level bridge of Kota.

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कोटा संभाग में अपनी राजस्थान गौरव यात्रा की शुरूआत से पहले कोटा शहरवासियों को हाई लेवल ब्रिज की बड़ी सौगात दी है। मुख्यमंत्री राजे ने शुक्रवार को कोटा शहरवासियों को 54 करोड़ रुपये की लागत से बने उच्च स्तरीय पुल को समर्पित किया। उन्होंने कोटा बैराज के समानान्तर बने करीब 1 किलोमीटर लंबे इस पुल का मुख्यमंत्री निवास से बटन दबाकर लोकार्पण किया। इस दौरान सीएम राजे ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कोटावासियों को संबोधित किया। बता दें कि आज शुक्रवार से ही मुख्यमंत्री की कोटा संभाग में रथ यात्रा शुरू हो गई है। संभाग में 14 से 18 सितम्बर तक राजस्थान गौरव यात्रा निकलेगी। यह यात्रा कुल 500 किलोमीटर का सफर तय करेगी।

news of rajasthan
Image: मुख्यमंत्री निवास से कोटा के उच्च स्तरीय पुल का लोकार्पण करती हुई सीएम राजे.

पुल के शुरू होने से यातायात का दबाव कम होगा और जाम से निजात मिलेगी

सीएम राजे ने पुल का लोकार्पण करते हुए कहा कि कोटा एक तेजी से बढ़ता हुआ शहर है और हमारी कोशिश है कि इसका विकास निरन्तर होता रहे। उन्होंने कहा कि यूआईटी कोटा द्वारा बनाए गए इस पुल के शुरू होने से यातायात का दबाव कम होगा और शहरवासियों को जाम की समस्या से निजात मिलेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोटा शहर में यूआईटी के माध्यम से करीब 307 करोड़ रुपए के विकास कार्य हो चुके हैं तथा करीब 517 करोड़ रुपए के विकास कार्य प्रगति पर हैं। इस अवसर पर उन्होंने कोटावासियों को नए पुल की बधाई दी।

कोटा में कई ऐतिहासिक विकास कार्य पूरे हो चुके हैं: मंत्री कृपलानी

स्वायत्त शासन मंत्री श्रीचन्द कृपलानी ने कहा कि कोटा में चम्बल पुल, बैराज के सामानान्तर पुल, हैंगिंग ब्रिज, नोर्दन बाईपास जैसे ऐतिहासिक विकास कार्य पूरे हो चुके हैं। आने वाले समय में नोर्दन बाईपास, बूंदी एवं बारां रोड पर सीसी सडक के निर्माण सहित कई कार्य पूरे होंगे।

Read More: राजस्थान: शिक्षा संकुल में आज ई-लर्निंग स्टूडियो का शुभारंभ करेंगे शिक्षा राज्यमंत्री देवनानी

इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य सचिव नगरीय विकास पीके गोयल भी उपस्थित थे। कोटा में कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी, विधायक प्रहलाद गुंजल, कोटा महापौर महेश विजय, नगर विकास न्यास कोटा के अध्यक्ष आरके मेहता तथा जिला कलक्टर गौरव गोयल सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण और अधिकारी उपस्थित थे।

 

LEAVE A REPLY