मुख्यमंत्री राजे ने नागौर जिले के लिए की कई महत्वपूर्ण घोषणाएं, लोगों की मांगें की पूरी

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे हाल ही में अपने तीन दिवसीय दौरे पर नागौर जिले में थीं। मुख्यमंत्री राजे ने नागौर दौरे के दौरान स्थानीय लोगों, जनप्रतिनिधियों एवं जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक में सामने आई क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं एवं मुद्दों का त्वरित समाधान करते हुए चिकित्सा, खनन, कृषि एवं पशुपालन व कानून व्यवस्था से संबंधित कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की। डीडवाना के क्रूड सोडियम सल्फेट (रूहाड) पर रॉयल्टी हटाने की मांग को मानते हुए सीएम राजे ने राजकीय लवण स्त्रोत, बापी (डीडवाना), अनुबंधित एवं अंत्योदय क्यारों से रॉयल्टी राशि नहीं लेने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद राजकीय उपक्रम विभाग की ओर से इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिए गए हैं। इससे क्रूड सोडियम सल्फेट के व्यापार से जुड़े लोगों व छोटे-छोटे व्यापारियों को फायदा मिलेगा।

news of rajasthan

File-Image: मुख्यमंत्री राजे ने नागौर जिले के लिए की कई महत्वपूर्ण घोषणाएं, लोगों की मांगें की पूरी.

नागौर जिला चिकित्सालय में 50 बैड्स की वृद्धि, विकास अधिकारी के रिक्त पद भरे

मुख्यमंत्री राजे से दौरे के दौरान स्थानीय लोगों ने नागौर के जिला चिकित्सालय में बैड्स की वृद्धि की मांग की थी। सीएम राजे ने लोगों की इस मांग को पूरा करते हुए 50 बैड्स की वृद्धि की घोषणा की है। इससे जिला अस्पताल में बैड्स की क्षमता बढ़कर 300 हो जाएगी। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने जिला अस्पताल में एक शल्य विशेषज्ञ की भी नियुक्ति कर दी। इन घोषणाओं से लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं मिल सकेंगी। जनसंवाद के दौरान राजे को लोगों ने नागौर जिले में रिक्त पडे तीन विकास अधिकारियों के पद को भरने की मांग की थी। मुख्यमंत्री राजे ने लोगों की मांग को पूरा करते हुए तीनों रिक्त पदों पर बीडीओ को लगा दिया है, इसके अलावा एसीएम नागौर की भी नियुक्ति कर दी गई है।

लंबित कृषि कनेक्शन जल्द दिए जाएंगे, पशुपालकों की समस्याएं होगीं दूर

मुख्यमंत्री राजे ने किसानों की समस्या का निराकरण करते हुए नागौर जिले में करीब 16 हजार लंबित कृषि कनेक्शन सितम्बर 2018 तक जारी करने के निर्देश दिए हैं। राजे ने मातासुख-कसनाउ माईन्स में उपलब्ध जल राशि का क्षेत्र में लगने वाले उद्योगों (सीमेंट) में उपयोग में लिए जाने के लिए प्रमुख शासन सचिव को डीपीआर तैयार करने के निर्देश दिए हैं। सीएम राजे ने नागौर जिले के पशुपालकों को भरोसा दिलाया कि ऊंट व बैल उनके जीविकोपार्जन का प्रभावी जरिया बनें, इसके लिए राज्य सरकार हर संभव प्रयास करेगी। साथ ही पशु मेलों को पुनः अपने वास्तविक रूप में लाने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पशुओं के परिवहन में आने वाली समस्याओं के समाधान के लिए केन्द्र सरकार से आग्रह किया गया है, जल्द ही इस समस्या का समाधान हो जाएगा।

Read More: मौसम विज्ञान विभाग राडार प्रणाली और अधिक सुदृढ़ करें: सीएम राजे

मूंडवा में नया पुलिस उप अधीक्षक कार्यालय खुलेगा जल्द, सबमर्सिबल मरम्मत राशि बढ़ाई

नागौर जिले में कानून व्यवस्था को सुदृढ व प्रभावी बनाने की दृष्टि से मुख्यमंत्री राजे ने मूंडवा (नागौर) में एक नया पुलिस उप अधीक्षक कार्यालय खोलने व बूडसू (मकराना) में पुलिस चौकी खोलने की घोषणा की है। राजे ने सबमर्सिबल पंप सेट की मरम्मत के लिए क्रय लागत की 50 प्रतिशत राशि देने की भी घोषणा की। नागौर जिले में भू-जल स्तर के नीचे चले जाने से सबमर्सिबल पंप बार-बार खराब हो जाते थे, जिनकी मरम्मत करने के लिए सबमर्सिबल पंप की मूल लागत का केवल 25 प्रतिशत खर्च करने का ही प्रावधान था। लेकिन सीएम राजे ने लोगों की पेयजल की समस्या को देखते हुए मरम्मत पर खर्च होने वाली राशि मूल लागत के 25 से बढ़ाकर 50 प्रतिशत करने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री राजे ने हालिया दौरे पर लोगों की मांग को ध्यान में रखते हुए ये घोषणाएं की है जिसका लाभ जल्द ही नागौर जिले के लोगों को मिलेगा।

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.