प्रदेश की तरक्की और सफलता के लिए साधु-संतों का सानिध्य होना बेहद जरूरी: मुख्यमंत्री

news of rajasthan

सांदड़ी गांव में स्वामी अवधेशानंद ब्रह्मचारीजी को दक्षिणा भेंट करते हुए मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे।

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे का कहना है, ‘मेरा हमेशा से मानना है कि किसी भी प्रदेश की तरक्की और सफलता के लिए साधु-संतों का सानिध्य होना बेहद जरूरी है। आप सभी संतों का आशीर्वाद व मार्गदर्शन पर यूं ही बना रहे ताकि हमारा प्रदेश निरंतर विकास के पथ पर अग्रसर रहे।’ मुख्यमंत्री राजे ने यह शब्द पाली जिले के सादड़ी गांव में मीडियाकर्मियों से कहे। असल में मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे पाली जिले के सादड़ी में चल रहे चातुर्मास यज्ञ में पहुंची थीं। यहां उन्होंने पूजा-अर्चना की और सूरज कुंड धाम कुंभलगढ़ के स्वामी चैतन्य अवधेशानंद ब्रह्मचारीजी महाराज से चुनावों में जीत का आशीर्वाद लिया। राजे ने महाराज को शॉल-श्रीफल-मिठाई व दक्षिणा भेंट की। बता दें, सूरजकुंड धाम में पाली ही नहीं बल्कि नजदीकी जिलों के लोगों की बड़ी आस्था है।

Read more: नवरात्रि महिला सशक्तिकरण का प्रतीक, महिला सशक्त तो राष्ट्र सशक्त

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे इन दिनों पाली जिले के रणकपुर में भाजपा के प्रत्याशियों पर रायशुमारी ले रही हैं। यहां उन्होंने जालौर, सिरोही, राजसमंद, चित्तौड़गढ़, जोधपुर, जैसलमेर और बाड़मेर जिले पर रायशुमारी ली। यहां प्रत्येक सीट से 3-3 संभावित प्रत्याशियों की सूची मांगी गई है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.