बीपीएल परिवारों को हर महीने मिलेगी 50 यूनिट मुफ्त बिजली

news of rajasthan

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे

राजस्थान के बीपीएल परिवारों को अब से प्रदेश सरकार की ओर से हर महीने 50 यूनिट घरेलू बिजली मुफ्त दी जाएगी। इसके साथ एक हेक्टेयर से कम जमीन वाले किसानों कों ऑन डिमांड कृषि कनेक्शन उपलब्ध कराया जाएगा। यह सुविधा टीएसपी एरिया के बीपीएल परिवारों के लिए रखी गई है। यह घोषणा मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे की है। राजे गुरुवार को प्रतापगढ़ में जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग द्वारा विश्व आदिवासी कल्याण दिवस के अवसर पर आयोजित राज्य स्तरीय समारोह को सम्बोधित कर रही थीं। विश्व आदिवासी दिवस को यादगार बनाने के लिए प्रत्येक 9 अगस्त को अवकाश भी घोषणा की गई है।

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे कहा कि टीएसपी एरिया के सभी 40 ब्लॉक में गोविंद गुरु के नाम से सामुदायिक भवनों का निर्माण कराया जाएगा। उन्होंने आयोजकों से विश्व आदिवासी समारोह को भविष्य में भी धूम-धाम से मनाने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने इस अवसर पर विभिन्न परीक्षाओंं में अच्छे अंक लाने वाले और खेल प्रतियोगताआें के विजेताओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने जनजाति क्षेत्र में 10 वीं और 12 वीं परीक्षाओं में 65 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाली बालिकाओं को स्कूटी वितरित कीं।

news of rajasthan

इस मौके पर जनजाति विकास विभाग मंत्री नंदलाल मीणा ने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि आदिवासियों के कल्याण के नाम पर कई विभाग और संस्थाएं बनीं, लेकिन सार्वजनिक रूप से पहली बार ऐसा ऐतिहासिक आयोजन मुख्यमंत्री की पहल पर प्रतापगढ़ में हो रहा है। उन्होंने टीएसपी क्षेत्र में व्यापक स्तर पर खोले गए छात्रावासों का जिक्र करते हुए कहा कि मौजूदा सरकार के कार्यकाल में आदिवासियों के कल्याण के लिए उल्लेखनीय कार्य हुए हैं। उन्होंने जनजाति कल्याण के लिए कार्यों के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। इससे पूर्व आदिवासी कलाकारों द्वारा स्वांग और गवरी नृत्य की मनमोहक प्रस्तुति दी गई।


इस अवसर पर विधायक गौतम मीणा, जिला प्रमुख सारिका मीणा, राजस्थान जनजाति आयोग की अध्यक्ष प्रकृति खराड़ी, जनृजाति विकास विभाग के आयुक्त भवानी सिंह देथा, सभापति कमलेश डोसी सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि और अधिकारी मौजूद थे।

Read more: तेज बारिश के बीच राजे को सुनने पहुंची जनता, जीत का संकेत दिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.