मुख्यमंत्री राजे ने शहीद मुकुट बिहारी को दी श्रद्धांजलि, पार्थिव देह पंचतत्व में विलीन

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने शुक्रवार को जयपुर एयरपोर्ट पर झालावाड़ जिले के खानपुर विधानसभा क्षेत्र स्थित लडानिया गांव निवासी शहीद मुकुट बिहारी मीणा को उनकी पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री राजे ने कुपवाड़ा में आतंकवादियों के खिलाफ शुरू किए गए सर्च ऑपरेशन के दौरान आतंकियों से मुठभेड़ में बुधवार को शहीद हुए स्व. मुकुट बिहारी मीणा की शहादत को नमन करते हुए कहा कि उन्होंने देश के लिए सर्वोच्च बलिदान देकर देश और प्रदेशवासियों का सिर गर्व से ऊंचा किया है। इस अवसर पर सार्वजनिक निर्माण मंत्री यूनुस खान, सांसद रामचरण बोहरा, सेना की दक्षिण पश्चिम कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ लेफ्टिनेंट जनरल चेरिश मेथसन तथा महापौर अशोक लाहोटी सहित अन्य सेना अधिकारी और गणमान्यजन उपस्थित रहे।

news of rajasthan

Image: मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे जयपुर एयरपोर्ट पर शहीद मुकुट बिहारी मीणा की पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि देती हुई. 

जिलेभर से हजारों की संख्या में लोग शहीद के अंतिम दर्शन करने पहुंचे

झालावाड़ जिले में शहीद मुकुट बिहारी के पैतृक गांव लडानिया में शनिवार को जिलेभर से हजारों की संख्या में लोग शहीद के अंतिम दर्शन करने पहुंचे। मुखाग्नि देने के बाद शहीद देह पंचतत्व में विलीन हो गई। गुरुवार को शहीद होने की ख़बर सुनने के बाद शुक्रवार सुबह से ही गांव में लोगों का आना शुरू हो चुका था। अपने वीर सपूत को खोने का दुख हर एक को है। इस दौरान उपस्थित लोगों की आंखों से आंसू निकल पड़े। लेकिन अपने लाड़ले के शहीद होने का सभी को गर्व भी है। गांव में महादेव मंदिर के पास ही शहीद का स्मारक बनाया जाएगा। अंतिम संस्कार के दौरान मुकुट बिहारी के परिवार के साथ कई नेता और आर्मी के अफसर मौजूद रहे। शहीद मुकुट बिहारी की पत्नी और तीन महीने की बेटी भी अंतिम संस्कार में मौजूद रही। सभी ने नम आंखों से जांबाज शहीद को विदाई दी।

Read More : राजस्थान: अब तक सात लाख 42 हजार किसानों को मिला ऋणमाफी प्रमाण-पत्र

कुपवाड़ा के जंगलों में आतंकियों से मुठभेड़ में हुए थे शहीद

खानपुर क्षेत्र के लडानिया गांव निवासी आर्मी कमांडो मुकुट बिहारी मीणा श्रीनगर के कुपवाड़ा के जंगलों में छिपे आतंकियों की तलाश में सुरक्षाबलों की ओर से शुरू किए गए सर्च ऑपरेशन में आतंकियों से हुयी मुठभेड़ में शहीद हो गए थे। उनका पार्थिव शरीर शनिवार सुबह उनके पैतृक पहुंचा। कोलाना हवाईपट्टी पर खाद्य मंत्री बाबूलाल वर्मा, जन अभाव अभियोग निराकरण समिति के अध्यक्ष श्रीकृष्ण पाटीदार, संसदीय सचिव नरेंद्र नागर, जिला प्रमुख टीना भील, विधायक कंवरलाल मीणा, रामचंद्र सुनारीवाल, भाजपा जिलाध्यक्ष संजय जैन ताऊ सहित अन्य जनप्रतिनिधि और अधिकारी पहुंचे।

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.